अमृतसर। लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में 19 मई, रविवार को 59 सीटों पर मतदान होगा। इनमें पंजाब की सभी 13 सीटें भी शामिल हैं। यहां मुख्य मुकाबला कांग्रेस, भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच है। कुल 278 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें दो बेहद रोचक नाम हैं। ये हैं - 'बाबाजी बर्गर वाले' और 'चाचा मैगी वाला'। दोनों निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं। 30 वर्षीय रविंदर पाल सिंह ने लुधियाना से नामांकन भरा है। इन्हें लोग 'बाबाजी बर्गर वाले' के नाम से जानते हैं। यहां से अकाली दल ने महेशिंदर सिंह को उतारा है, जबकि कांग्रेस ने मौजूदा सांसद रवनीत सिंह बिट्टू पर भरोसा जताया है। आम आदमी पार्टी ने प्रो. तेजपाल सिंह गिल को टिकट दिया है। इसी तरह, 55 साल के जसबीर सिंह पटियाला से मैदान में हैं। इन्हें 'चाचा मैगी वाला' कहा जाता है। यहां कांग्रेस की तीन बार की सांसद परणीत कौर, अकाली दल के सुरजीत सिंह राखरा और आम आदमी पार्टी की नीना मित्‍तल के बीच मुकाबला है। पढ़िए 'बाबाजी बर्गर वाले' और 'चाचा मैगी वाला' की कहानी -

बर्गर वाले की कैंसर के खिलाफ लड़ाई: 'बाबाजी बर्गर वाले' रविंदर पाल सिंह का कहना है कि वे कैंसर के प्रति लोगों में जागरुकता फैलाने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। इस इलाके में नाला बहता है, जिसमें फैक्टरियों का कैमिकल बहता है और इसके संपर्क में आने वाले लोगों को कैंसर हो रहा है। रविंदर 12 साल से मॉडल टाउन एक्सटेंशन मार्केट में लोगों को बर्गर परोस रहे हैं। बकौल रविंदर, मैं सरकारी स्कूलों और अस्पतालों की खस्ताहाल से दुखी हूं और कुछ काम करना चाहता हूं। यही कारण है कि चुनावी मैदान में कूदना पड़ा है।

मैगी वाला मिटाना चाहता है करप्शन: पटियाला बस स्टैंड के पास जसबीर सिंह के मैगी नूडल्स को हर कोई जानता है। जसबीर भ्रष्टाचार से परेशाना हैं और इसे मिटाना चाहते हैं, इसलिए चुनाव लड़ रहे हैं। उनके मुताबिक, सरकारी अधिकारी हर साल में लोगों की जेब से पैसा निकलवाना चाहते हैं। खास बात यह है कि जसबीर 2017 के विधानसभा चुनाव में पटियाला ग्रामीण सीट से चुनाव लड़े थे, लेकिन हार का मुंह देखना पड़ा था। इस उन्हें उम्मीद है कि जीत मिलेगी।

19 मई को आखिरी चरण की वोटिंग, 23 को नतीजे

लोकसभा चुनाव 2019 में अब तक 543 में से 484 सीटों पर मतदान हो चुका है। अब मतदान का आखिरी चरण बचा है, जिसके तहत 19 मई, रविवार को मतदान होगा। इस दिन 8 राज्यों की 59 सीटों पर प्रत्याशियों की किस्मत EVM में कैद हो जाएगी। ये राज्य हैं - बिहार (8), झारखंड (3), मध्य प्रदेश (8), पंजाब (13), पश्चिम बंगाल (9), चंडीगढ़ (1), उत्तर प्रदेश (13) और हिमाचल प्रदेश (4)। के लिए सभी 543 सीटों का परिणाम 23 मई, गुरुवार को घोषित होगा। इससे पहले 12, मई रविवार को छठे चरण में 12 मई को 7 राज्यों की 59 सीटों पर वोट डाले गए।

लोकसभा चुनाव का सातवां चरण (8 राज्य, 59 सीट)

अधिसूचना की तारीख: 22 अप्रैल (सोमवार)

नामांकन की आखिरी तारीख: 29 अप्रैल (सोमवार)

नामांकन की छंटनी: 30 अप्रैल (मंगलवार

मतदान: 19 मई (रविवार

  1. बिहार (8 सीट): नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, अर्रा, बक्सर, सासाराम, करकट, जहानाबाद
  2. चंडीगढ़ (1 सीट): चंडीगढ़
  3. हिमाचल प्रदेश (4 सीट): कांगड़ा, मंडी, हमीरपुर, शिमला
  4. झारखंड (3 सीट): राजमहल, दुमका, गोड्डा
  5. मध्य प्रदेश (8 सीट): देवास, उज्जैन, मंदसौर, रतलाम, धार, इंदौर, खरगोन, खंडवा
  6. पंजाब (13 सीट): गुरदासपुर, अमृतसर, खडूर साहिब, जालंधर, होशियारपुर, आनंदपुर साहिब, लुधियाना, फतेहगढ़ साहिब, फरीदकोट, फिरोजपुर, बठिंडा, संगरूर, पटियाला
  7. उत्तर प्रदेश (13 सीट): महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर, रॉबर्ट्सगंज
  8. पश्चिम बंगाल (9 सीट): दम दम, बरसात, बशीरहाट, जयनगर, मथुरापुर, डायमंड हार्बर, जादवपुर, कोलकाता दक्षिण, कोलकाता उत्तर।

परिणाम: सभी 543 सीटों पर 23 मई, गुरुवार को परिणाम घोषित किए जाएंगे।

यहां भी क्लिक करें: जानें EVM से जुड़ी ये अहम बातें और Vote करने का तरीका