पटना। बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों के लिए एनडीए में बंटवारा हो गया है। भाजपा जहां 17 सीटों पर लड़ेगी, वहीं जेडीयू भी 17 सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी। लोकजनशक्ति पार्टी को 6 सीटें मिली हैं। पटना में JDU के दफ्तर पर एनडीए नेताओं की प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी गई। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की नवादा सीट सहयोगी लोजपा को दे दी गई है। ऐसे में गिरिराज सिंह अब भाजपा के टिकट पर बेगूसराय से चुनाव लड़ सकते हैं।

2014 के चुनावों में भाजपा ने जहां 31 सीटों पर जीत दर्ज की थी, वहीं जदयू के खाते में 2 सीटें गई थीं। कांग्रेस को दो तो लालू की पार्टी को महज चार सीटें मिली थीं।

सूत्रों के अनुसार, काफी जद्दोजहद के बाद बिहार में एनडीए के सहयोगी दलों के बीच सीटों का मामला सलटा है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जदयू और लोजपा नेताओं से बातचीत करके इसका समाधान निकाला है।

जदयू - सीतामढ़ी, किशनगंज, कटिहार, मधेपुरा, सीवान, मुंगेर , जहानाबाद ,गया, सुपौल, गोपालगंज, बांका, सीतामढ़ी, झंझारपुर, भागलपुर, पूर्णिया, काराकट और नालंदा।

भाजपा - पश्चिमचंपारन,पू्र्व चंपारम, मधुबनी, अररिया, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय, पटनासाहिब, सासाराम, बक्सर, दरभंगा, पाटलिपुत्र, महाराजगंज, आरा, सारण, उजियारपुर, औरंगाबाद, शिवहर।

लोजपा - वैशाली, हाजीपुर, समस्तीपुर, खगड़िया, जमुई, नवादा

इससे पहले भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने प्रदेश के सभी शीर्ष नेताओं को दिल्ली बुलाया था, जहां भाजपा मुख्यालय में प्रदेश कोर कमेटी की बैठक हुई। उसके बाद अमित शाह ने प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में अधिकृत सुशील कुमार मोदी, नित्यानंद राय, प्रेम कुमार और बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव व संगठन महामंत्री नागेंद्र के साथ बैठक कर सहयोगी दलों के साथ चल रही सीटों की गुत्थी को सुलझाई थी।