सिर्फ़ दो दिन में 100 करोड़ की कमाई करने वाली तमिल फिल्म 'सरकार' के निर्देशक एआर मुरुगादौस ने अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए मद्रास हाईकोर्ट में एंटीसिपेटरी बेल के लिए अर्जी दी थी। कोर्ट ने इस पर सुनवाई करते हुए 27 नवंबर तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है।

विजय स्टारर फिल्म सरकार इसी हफ़्ते देश दुनिया में रिलीज़ हुई है l इस फिल्म ने तमिलनाडु बॉक्स ऑफ़िस पर बाहुबली का रिकॉर्ड तोड़ दिया है लेकिन फिल्म बड़े विवाद में फंस गई है l फिल्म के कुछ सीन्स को लेकर जब एआईडीएमके के कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया तो राज्य सरकार भी हरकत में आ गई l

जानकारी के मुताबिक पुलिस गुरुवार की रात निर्देशक मुरुगादौस की गिरफ्तारी के लिए उनके घर पहुंची थी l देवराजन नाम के एक आदमी ने डायरेक्टर के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज़ कराई थी l उन पर आतंकवाद क़ानून के तहत मामला बनाने का अनुरोध किया गया है l

दरअसल उनका आरोप है कि फिल्म में पिछली जयललिता सरकार के कामकाज का मज़ाक उड़ाया गया है l तमिलनाडु के सूचना और प्रसारण मंत्री ने भी इस बात पर कड़ी आपत्ति जताई थी l तमिलनाडु सरकार में मंत्री सी वी षड्मुगम ने आरोप लगाया है कि इस फिल्म के जरिए समाज में हिंसा को बढ़ावा दिया जा रहा है। प्रदेश सरकार फिल्म से जुड़े कलाकारों और निर्देशक के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

तमिल फिल्म सरकार एक एनआरआई बिज़नेसमैन की कहानी है जो विधानसभा चुनाव में वोट देने के लिए अपने घर आता है और उसके बाद वो ख़ुद चुनाव लड़कर मुख्यमंत्री बनना चाहता है। चुनावी भ्रष्टाचार और वोटिंग विवाद को लेकर बनी इस फिल्म में विजय लीड रोल में हैं और उनके साथ वरलक्ष्मी, कीर्ति सुरेश और राधा रवि का भी अहम् रोल है। इस पॉलिटिकल ड्रामा को लेकर काफ़ी समय से चर्चा थी।