विवादित फिल्म 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' आज रिलीज हुई है। तमाम शहरों में इसके शो पुलिस के साये में दिखाए गए। सुबह वाले शो कुछ जगहों पर हंगामे भरे थे, लेकिन दोपहर तक हालात सामान्य हो गए। इन सब उठा-पटक से फिल्म का काफी भला हुआ है। इसके शो लगभग फुल चल रहे हैं। ऐसे में कमाई के जो अंदाज थे, वो फेल होना तय हैं। जानकार मान रहे थे कि पहले दिन इस फिल्म को दो से तीन करोड़ रुपए मिलेंगे। लेकिन माहौल बता रहा है कि कमाई लगभग दोगुना होगी। पांच करोड़ इसे पहले दिन मिलना ही चाहिए।

फिल्म को पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के इर्द-गिर्द ही रखा गया है। संजय बारू का रोल करने वाले अक्षय खन्ना ये कहानी अपने नजरिये से सुना रहे हैं। फिल्म में कई अच्छी बातें हैं और कुछ जगह नियत पर शक होता है। कोई विचारधारा यह बना दे, इतनी ताकत इसमें नहीं है।

बता दें कि भारत में इसे 1300 स्क्रीन्स मिली हैं, और विदेश में 140। यह भी गौर करने वाली बात है कि इसके सामने विक्की कौशल की फिल्म 'उरी' रिलीज हो रही है और इसके रिव्यू काफी अच्छे आ रहे हैं। लोग इसकी तारीफ कर रहे हैं। अभी तक 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' को मीडिया को नहीं दिखाया गया था तो इसके रिव्यू नहीं आए थे। अब बाहर आना शुरू हुए है और मिली-जुली प्रतिक्रिया इसे हासिल हो रही है।

इसका तेलुगु और तमिल वर्जन 18 जनवरी को रिलीज होगा। अंग्रेजी की तारीख अभी तय नहीं है। इस फिल्म में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की भूमिका में अनुपम खेर हैं। फिल्म का निर्देशन विजय रत्नाकर गुट्टे ने किया है। फिल्म में अक्षय खन्ना, संजय बारू की भूमिका निभा रहे हैं जो कि पूर्व प्रधानमंत्री के मीडिया सलाहकार थे। बारू की किताब पर इस फिल्म को बनाया गया है।

फिल्म को लेकर उठ रहे सवालों के जवाब देने के लिए अनुपम खेर ने भी पिछले दिनों एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। उन्होंने कहा था कि, फिल्म को संजय बारू की किताब में लिखे गए फैक्ट्स पर बनाया गया है। फिल्म पर हो रही कंट्रोवर्सी पर अक्षय खन्ना ने कहा था कि, 'जब आप किसी राजनीत‍िक व‍िषय पर फिल्म बनाएंगे तो उस पर कई तरह की बातें होंगी। सच्ची घटनाओं पर बनने वाली फिल्म पर लोगों के र‍िएक्शन आना स्वाभाविक है। हमारे लिए निराशा की बात तब होती जब ट्रेलर पर कोई प्रत‍िक्र‍िया नहीं आती। मैं विरोध कर रहे लोगों से बस इतना कहना चाहता हूं कि, यह सिर्फ एक फिल्म ही है, कोई सुनामी या फिर भूकंप नहीं है।'