नवसारी। मोदी सरकार पूरे देश में स्वच्छ भारत अभियान चला रही है और इसके साथ ही स्वच्छता सर्वेक्षण भी किया जा रहा है। इसी स्वच्छता के संदेश को आगे बढ़ाते हुए नवसारी के एक छात्र ने ऐसा कूड़ेदान तैयार किया है जिसमें कूड़ा डालने पर पैसे मिलेंगे। जी हां, आपने सही सुना कि कचरे के भी पैसे मिलेंगे।

आप रोज अपने घर में निकलने वाला कचरा डस्टबीन या कचरा वाहन में डाल देते होंगे। लेकिन नवसारी के प्राथमिक विद्यालय में पढ़ने वाले ओम गुप्ता ने एक डिजिटल डस्टबिन बनाया है, जो आपके घर के कचरे से राजस्व भी पैदा करेगा।

विद्यालय के कक्षा 8 के छात्र ओम गुप्ता ने अपने शिक्षक मेहुल पटेल के साथ मिलकर इस कूड़ेदान को तैयार किया है। इस डिजिटल डस्टबिन में लोग कागज और प्लास्टिक का कचरा ही डाल सकेंगे।

कैसे काम करेगा?

इस डस्टबिन की खास बात यह है कि इसे केवल स्मार्ट कार्ड से ही खोला जा सकता है और लोग इसमें कागज और प्लास्टिक कचरा डाल सकते हैं। यह मशीन कचरे का वजन करेगी और वजन के हिसाब से मिलने वाला पैसा सीधे बैंक खाते में जमा किया जाएगा। इतना ही नहीं बल्कि आपके फोन नंबर पर इसकी पूरी जानकारी भी मिलेगी।

जो लोग इस डस्टबिन में कचरा डालेंगे इनका एक स्मार्ट कार्ड बनेगा जिस पर बार कोड होगा। इसके माध्यम से कचरा डालने वाले के घर का नंबर, नाम और बैंक खाता जुड़ा होगा। जैसे ही कचरा डस्टबिन में गिरेगा उसका वजन नजर आएगा। कचरा डालने वाले का बारकोड स्कैन होने से पैसा उसके खाते में जाएगा।

नोट राष्ट्रीय स्तर पर लिया जाएगा

ओम गुप्ता के इस प्रोजेक्ट को जिले के प्रेरणा पुरस्कार में पहला स्थान प्राप्त किया है। अब वह 14-15 फरवरी को यह प्रोजेक्ट को राष्ट्रीय स्तर पर पेश करेंगे। दिल्ली में एक प्रदर्शन में डिजिटल डस्टबिन कॉन्सेप्ट पेश किया जाएगा।