अहमदाबाद। सूरत की एक शादी का कार्ड आजकल सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है। मजे की बात है कि शादी का कार्ड देखने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बधाईयां भेजी है। सूरत के पोखरणा परिवार ने विवाह के कार्ड पर देवताओं की जगह राफेल फाइटर जेट की तस्वीर व उससे जुड़ी जानकारी छपवा कर इस सौदे को देश के लिए जरूरी बताया है। शादी का स्वागत समारोह गत 17 जनवरी को सूरत में हुआ। इसी दिन प्रधानमंत्री कार्यालय से एक मेल आया जिसने पोखरणा परिवार की खुशियों को चार चांद लगा दिया।

प्रधानमंत्री मोदी ने डॉ. बबीता प्रकाश पोखरणा को संबोधित करते हुए लिखा है कि विवाह के कार्ड पर राफेल का फोटो व उससे जुड़ी जानकारी छापकर आपने मेहमानों को इस मुद्दे पर जागरूक किया है। यह आपके देश प्रेम को दर्शाता है। यह मुझे भी देश के लिए कड़ी मेहनत करने को प्रेरित करेगा।

युवराज व साक्षी अग्रवाल के विवाह के बाद रिसेप्शन कार्ड पर राफेल से जुड़ी कई बातें लिखी हैं। शांत रहो, मोदी पर विश्वास रखो टैगलाइन के साथ कार्ड पर राफेल की कीमत का आंकलन, उसके हथियारों से सुसज्ज होने, पहले से 20 फीसद सस्ता होने, सौदा 58 हजार करोड़ का, जबकि घोटाले का आरोप एक लाख 30 हजार करोड़ का बताने पर कांग्रेस को जवाब देने का प्रयास किया गया है।

कार्ड पर लिखा है कि कांग्रेस अध्यक्ष सुप्रीम कोर्ट के संतुष्ट होने के बाद भी आरोप लगा रहे हैं। संप्रग सरकार ने इस सौदे को 11 साल तक लटकाए रखा लेकिन मोदी ने आते ही इसे हरी झंडी दे दी।

गौरतलब है कि इससे पहले जयपुर जिले के सोडा बावडी गांव के भंवर सोनी ने भी अपनी पोती के विवाह के कार्ड पर यह संदेश छपवा दिया था कि वर वधू को विवाह के आशीर्वाद के रूप में अगले चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी को ही जीत दिलाने के लिए मतदान करें। कार्ड के ऊपर ही यह संदेश होने से मेहमानों को वर-वधू के नाम व तिथि के साथ यह संदेश स्पष्ट रूप से पढ़ने में आता था।

इसके अलावा एक व्यक्ति ने अपने शादी के कार्ड पर राफेल के संबंध में जानकारियां छापकर विपक्ष के हर हमले का जवाब देने का प्रयास किया था। मेडिसन स्-ॉयर जैसा जलसा सूरत में गत लोकसभा चुनाव में जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विदेशी दौरों में अमरीका के मेडिसन स्-ॉयर की सभा यादगार बन गई थी।

आगामी 30 जनवरी को सूरत के इंडोर स्टेडियम में भी ऐसा ही कार्यक्रम करने की तैयारी की जा रही है। इसमें मोदी रिवॉल्विंग स्टेज से 15 हजार पेशेवर युवाओं को संबोधित करेंगे। इनमें डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, पत्रकार, सीए आदि शामिल होंगे।