अहमदाबाद। भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत प्रस्तावित सूरत-नासिक हाईवे परियोजना फिलहाल रोक दी गई है। गुरुवार को दक्षिण गुजरात के किसान व आदिवासियों के विरोध के बाद मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इसका एलान किया। उन्होंने कहा कि किसानों की जमीन का अधिग्रहण उनकी सहमति से होगा।

दक्षिण गुजरात स्थित नवसारी के चीखली व वांसदा सहित दो दर्जन गांवों के हजारों किसानों ने गुरुवार को चीखली में हाईवे के लिए भूमि अधिग्रहण का विरोध किया। इनकी अगुआई स्थानीय कांग्रेस विधायक कर रहे थे। इसके बाद सरकार ने परियोजना पर फिलहाल रोक लगा दी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान व आदिवासियों से भूमि का अधिग्रहण जबरन नहीं किया जाएगा। उनकी सहमति के बाद ही भारतमाला प्रोजेक्ट को दोबारा शुरू किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 जनवरी को विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए सूरत व नवसारी जाने वाले हैं। माना जा रहा है कि पीएम की यात्रा से पहले राज्य सरकार दक्षिण गुजरात में किसी तरह का विरोध आंदोलन नहीं चाहती।