अहमदाबाद। बीएसएफ कांस्टेबल के पुत्र अविनाश कंबोज ने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ रुरल मैनेजमेंट के केम्पस प्लेसमेंट में अब तक के सबसे अधिक 50 लाख के पैकेज की नौकरी पाकर रिकार्ड तोड़ दिया है। अविनाश सिरसा के सालरपुर गांव के रहने वाले हैं, गतवर्ष भी यहां हरियाणा के छात्र ने ही सबसे अधिक वेतन की नौकरी हासिल की थी।

गुजरात मिल्क मार्केटिंग फैडरेशन अमूल संचालित भारतीय ग्रामीण प्रबंधन संस्थान के केम्पस प्लेसमेंट में इस बार हरियाणा सिरसा के गांव सालरपुर के अविनाश कंबोज को 50 लाख 31 हजार रुपए के पैकेज की नौकरी मिली है।

अविनाश के पिता कुलजीत हरियाणा में बीएसएफ में लिपिक के पद पर कार्यरत हैं। गतवर्ष भी हरियाणा के छात्र को ही सबसे अधिक 46 लाख 50 हजार रु का पैकेज मिला था।

ग्रामीण प्रबंधन संस्थान की स्थापना श्वेत क्रांति के जनक वर्गीस कूरियन ने की थी, ग्रामीण क्षेत्र के अर्थतंत्र को बेहतर बनाने के प्रबंधन से जुडे विषय इसके पाठ्यक्रम में शामिल हैं।

अविनाश ने सिरसा के सालरपुर गांव से प्राथमिक शिक्षा हासिल की,इसके बाद हिसार के चौधरी चरण सिंह हरियाणा एग्रीकल्चर युनिवर्सिटी से एग्रीकल्चर विषय में बीएससी तक पढाई की। अविनाश के पिता कांस्टेबल हैं जबकि माता सुनीता रानी ग्रहिणी है।