-पिता बोले, पता नहीं क्यों उठाया, सुबह ही पीटीएम में मां के साथ गई थी स्कूल

-आज होगा पीएम, पुलिस जांच में जुटी

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

स्कूल से घर लौटी 12वीं की छात्रा ने शनिवार दोपहर में मोबाइल बंद कर अपने घर में दुपट्टे का फंदा बनाकर फांसी लगा ली। उसने ऐसा कदम क्यों उठाया इसका खुलासा नहीं हो सका है। शव को पीएम के लिए हमीदिया अस्पताल में रखवाया गया है। रविवार सुबह पीएम किया जाएगा। बताया जाता है कि छात्रा सुबह ही स्कूल में आयोजित पैरेंट्स टीचर मीटिंग (पीटीएम) में मां के साथ गई थी।

टीटीनगर पुलिस के अनुसार मूलतः ग्वालियर के रहने वाले महेश कुमार कुशवाह अपने 17 वर्षीय बेटी लुभांशी और छोटे बेटे के साथ साउथ टीटीनगर में रहते है। महेश किराना व्यापारी है और लुभांशी आनंद विहार स्कूल में कॉमर्स विषय से 12वीं की पढ़ाई कर रही थी। शनिवार को लुभांशी की स्कूल में पीटीएम थी। वह मां के साथ सुबह स्कूल गई थी। यहां उसका छमाहीका परिणाम बताया था जो बहुत अच्छा था। मीटिंग से लौटकर मां पति के साथ छोटे बेटे की पीटीएम में शामिल होने के लिए नीलबढ़ में स्थित निजी चली गई थी। पुलिस ने छात्रा का मोबाइल जब्त कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस को मोबाइल से सुराग मिलने की उम्मीद हैं।

11 बजे लौटकर मोबाइल चला रही थी

टीटीनगर थाने के एसआई लक्ष्मण राय ने बताया कि शुरुआती जांच में सामने आया है कि छात्रा 11 बजे स्कूल से घर पहुंची थी। इस दौरान वह मोबाइल पर कुछ कर रही थी। उस समय उसके पापा, मां और छोटा भाई पीटीएम में गए थे। जिसके बाद परिवार घर लौटा तब उसकी फांसी लगाने का पता चला। फंदा काटकर परिजन उसे लेकर जेपी अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अंदर से बंद था दरवाजा, चिंता हुई तो तोड़ दिया

सबसे पहले मैंने अपनी बेटी को फांसी पर लटके देखा था, पीटीएम से वापस आने के बाद देखा तो दरवाजा अंदर से बंद मिला, आवाज लगाने के बाद भी बेटी ने दरवाजा नहीं खोला तो उसके मोबाइल पर कॉल किया, लेकिन वह बंद था। चिंता होने पर दरवाजा तोड़ दिया। अंदर बेटी आठ फीट ऊंचे टीन की छत पर लगे पाइप पर लटकी हुई थी। तत्काल उसको फांसी से उतारकर अस्पताल लेकर गए। हमारी शुक्रवार रात में दुर्गा झांकी देखने की बात हुई थी। उसने मना कर दिया था। मेरी बेटी पढ़ाई में मेधावी थी, दसवीं में वह प्रथम श्रेणी में उतीर्ण हुई थी, उसने किन कारणों से ऐसा किया उसकी जानकारी नहीं है।

(जैसा कि मृतका छात्रा के पिता महेश ने नवदुनिया को बताया)

पूर्व मंत्री के करीबी रिश्तेदार

मृतका के चाचा उमेश कुशवाह के अनुसार वह तारागंज ग्वालियर के मूल रूप से रहने वाले हैं। पूर्व मंत्री और भाजपा के वर्तमान विधायक नारायण सिंह कुशवाह उनकी रिश्तेदारी है। मृतका के खुदकुशी करने के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है।