पार्टियों का गणित बिगाड़ने वाले निर्दलीय प्रत्याशियों और रुठे पदाधकिारियों को मनाने का प्रयास करेंगी पार्टी

चार दिन का समय बचा शेष, भीतर घातियों को पहचानने में लगे प्रत्याशी

सीहोर। जिले की चारों विस सीटों पर 71 प्रत्याायिों ने नामांकन दाखिल कि ए हैं। जिसमें भाजपा, कांग्रेस, सपाक्स, बीएसपी, आप, पीएसपी, गोंडवाना पार्टी सहित कई अन्य पार्टियों के प्रत्याशी मैदान में हैं। वहीं बड़ी संख्या में बागी प्रत्याशी भी निर्दलीय के रुप में मैदान में उतर चुके हैं। जहां 35 प्रत्याशी विभिन्न पार्टियों से चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं 36 प्रत्याशी निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में हैं। इन निर्दलीय प्रत्याायिों में से कई राजनैतिक पार्टियों ने खफा लोग हैं और यह उसी पार्टी का गणित बिगाड़ते हैं। जिससे वे नाराज होते हैं।

शुक्रवार को जहां नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन तक जिले में कु ल 71 प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल कर चुके हैं। जिसमें इछावर से 26, सीहोर से 14, बुदनी से 21 और आष्टा से 10 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल कि ए। निर्दलीय प्रत्याशियों पर नजर डाले तो इछावर विस से 16, सीहोर से 7, बुदनी से 10 और आष्टा से 4 प्रत्याशी निर्दलीय हैं। हर सीट पर कोई न कोई भाजपा या कांग्रेस से नाजारा प्रत्याशी मैदान में हैं, जो पार्टी के प्रत्याशियों को कड़ी टक्कर देंगे। इन्हें मनाने के लिए पार्टियों के पास 14 नंवबर तक का ही समय रह गया है। इसके बाद उन्हें रोकना मुश्किल है। वहीं कु छ नाराज कार्यकर्ताओं और पदाधकिारियों को मनाने का काम चलता रहेगा।

यह बागी बढ़ा सकते हैं पार्टी की परेशानी

- सीहोर विधान सभा सीट पर भाजपा के दो बड़े नेता बागी हो गए हैं और दोनों ने ही निर्दलीय चुनाव लड़ने का मन बना लिया है। जिससे सीहोर विस सीट का मुकाबला रोचक हो गया है। वहीं पार्टी के लिए मुश्किल बढ़ गई है। भाजपा के बागी नेता रमेश सक्सेना की पत्नी उषा सक्सेना और जनसंघ के समय से पार्टी से जुड़े सन्नी महाजन मैदान में हैं।

- बुदनी विस सीट से कि सी भी पार्टी से कोई बड़ा बागी नेता चुनाव नहीं लड़ रहा है, लेकि न यहां से कु छ नेताओं ने अपनी मूल पार्टी छोड़ने के बाद दलों में शामिल हो गए हैं। जिनने पार्टी की परेशानी बढ़ेगी। बुदनी से भाजपा नेता व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष धर्मेंद्र चौहान ने भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। जिससे क्षेत्र में भाजपा के लिए परेशानी बढ़ेगी।

- आष्टा में भी भाजपा से ही सिर्फ एक प्रत्याशी ने निर्दलीय के रुप में नामांकन दालिख कि या है। कांग्रेस से भी कई नेताओं ने बगावत की है, लेकि न फिलहाल वे विरोध उजागर करने के बजाए अंदर से सेंध लगाने में लगे हैं। भाजपा से उर्मिला मरेठा के निर्दलीय के रुप में नामांकन पत्र दाखिल करने से भाजपा की परेशानी बड़ सकती है। वहीं भाजपा के पदाधकिारियों का कहना है कि वे उर्मिला मरेठा को मना लेंगे।

- इछावर विस सीट पर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों में विद्रोह के स्वर बुलंद हैं। भाजपा से बगावत कर चुके अजय पटेल भाजपा के लिए मुश्किल बढ़ा रहे हैं। अजय पटेल के समर्थकों ने टिकट वितरण के बाद कई तरह से भाजपा का विरोध कि या है। इस विरोध के साथ ही उनके समर्थक सोशल मीडिया पर भी भाजपा के प्रति नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं। जबकि अजय पटेल ने इस संबंध में चुप्पी साधी हुई है। वहीं कांग्रेस से जनपद सदस्य तुलसी राम पटेल भी निर्दलीय के रुप में मैदान में हैं। इसके अलावा कांग्रेस के बिलकि सगंज सरपंच राजेश जांगडे ने भी बीएसपी से चुनाव लड़ने का मन बना लिया है।

सीहोर

माधव सिंह सोलंकी भाकपा, सुदेश राय भाजपा, कृष्णपाल सिंह बघेल आप, नीलेश कु मार जैन शिव सेना, सुरेंद्र सिंह ठाकु र कांग्रेस, सुनील कु मार बीएसपी, कमल सिंह पीएसपी, रश्मि देवी सपाक्स, गौरव सन्नी महाजन, रमेशचंद सक्सेना, एम अकरम, कै लाश नारायण, उषा देवी सक्सेना, शशांक सक्सेना ने निर्दलीय मैदान में है।

बुधनी

शिवराज सिंह चौहान भाजपा, रेवाराम सल्लाम गौंडवाना गणतंत्र पार्टी, विमलेश आप, अरुण कु मार यादव कांग्रेस, मनोज कु मार के एमएस, संजीत कु मार बीएसपी, राधेश्याम बीआरएसपी, नरेंद्र सिंह सपाक्स, ब्रजेश गुप्ता जेएलपी, वीणा शिवसेना, जशरथ पीएसपी, चंद्रशेखर चौहान, हेमराज पैठारी, प्रेम सिंह, अब्बदुल रासिद, प्रेमनारायण, अमर सिंह, सेवाराम, निर्मला बाई, गुनदेश ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन जमा कि या है।

आष्टा से इन्होंने भरे नामांकन

रघुनाथ सिंह मालवीय भाजपा, कमल सिंह पीएसपी, रामप्रसाद शिवसेना, सौभाल सिंह डीपीपी, शैलेश वैद्य बीएसपी, गोपाल सिंह कांग्रेस, ओंकार आप, जगन्नाथ सिंह, गजपाल सिंह और उर्मिला मरेठा ने निर्दलीय नामांकन जमा कि या है।

इछावर से इन्होंने भरे नामांकन

अनिल मालवीय भाजपा, शैलेंद्र पटेल कांग्रेस, करण सिंह वर्मा भाजपा, राजेश जांगडते बीएसपी, दिनेश कु मार आप, विष्ण वर्मा भाजपा, विजेंद्र दत्त तिवारी सपक्स, मदनलाल पीएसपी, राजेंद्र सिंह बीपीपी। वहीं परमानंद कु शवाहा, नवीन जाटव, घनश्याम, दीपक सिंह, अनवर खान, कु ंवर तुलसीराम पटेल, शैलेंद्र, शैलेंद्र त्यागी, शैलेंद्र कु मार वर्मा, संतोष, करण सिंह, करण सिंह, धीरेंद्र, रमेश्वर, पदम सिंह, हरि देव, अजब सिंह।