उदयगढ़। उदयगढ़ थाना क्षेत्र के टेरका गांव में रविवार सुबह करीब 8 बजे तेंदुए ने देसिया पिता मूनसिंह पर उस समय हमला कर दिया, जब वह अपने पुत्र राजमल, भाई व पत्नी के साथ खेत पर जा रहा था। तेंदुआ रास्ते में कुएं की आड़ में झाड़ियों में छिपा हुआ था।

जैसे ही देसिया उस कुएं के समीप से गुजरा तो पहले से घात लगाए बैठे तेंदुए ने उस पर पीछे से हमला कर दिया। हमले में देसिया के चेहरे, पीठ तथा भुजा पर चोट आई है। शोर मचाकर पत्थर फेंकने पर तेंदुए ने देसिया को छोड़ दिया और भाग निकला।

झाड़ी में जाकर छिपे हुए तेंदुए का कुछ लोगों ने पीछा कर उसका वीडियो भी बनाया। ग्राम थांदला के पूर्व सरपंच बाथू बघेल ने थाने पर हमले की सूचना दी। मौके पर पहुंचे टीआई तेजमल पंवार ने घायल को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया।

साथ ही वन विभाग के अधिकारियों को सूचना देने के लिए फोन लगाया, लेकिन काफी देर तक आला अधिकारियों के मोबाइल बंद मिले। पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि हमला तेंदुए ने ही किया है।

देसिया को उदयगढ़ के सामुदायिक चिकित्सालय में उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है। तेंदुए के हमले को लेकर गांव में दहशत का माहौल है क्योंकि इससे पूर्व में भी थांदला, टेरका, आम्बी, छारवी, जुआरी आदि स्थानों पर तेंदुए के हमले होते रहे हैं। घटना की सूचना मिलने पर काफी देर बाद वन विभाग का अमला भी मौके पर पहुंचा और वहां सर्चिंग शुरू की।