Naidunia
    Monday, December 18, 2017
    PreviousNext

    टैंकर बुकिंग से लेकर जन्म-मृत्यु प्रमाणपत्र तक के लिए ऑनलाइन कर सकेंगे आवेदन

    Published: Fri, 08 Dec 2017 03:48 AM (IST) | Updated: Fri, 08 Dec 2017 11:30 AM (IST)
    By: Editorial Team
    online certificate 2017128 113041 08 12 2017

    जबलपुर। अब आपको किसी भी प्रकार की शिकायत करने या आवेदन देने के लिए नगर निगम आने की जरूरत नहीं होगी। ई-नगर पालिका के तहत सब कुछ ऑनलाइन हो गया है। जिसके बाद आप टैंकर की बुकिंग से लेकर जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र तक के लिए घर बैठे ही आवेदन दे सकते हैं। इसके साथ ही अपनी समस्या की शिकायत भी पोर्टल में कर सकते हैं।

    प्रदेश सरकार ने सभी नगर नगर और नगर पालिका को सेंट्रलाइज कर दिया है। इसके लिये ई-नगर पालिका के नाम से जो साफ्टवेयर तैयार किया गया है वह पूरे प्रदेश में एक साथ चल रहा है। जबलपुर नगर निगम में भी यह सेवा शुरू हो गई है। इसके साथ ही नगर निगम के सभी काम ऑनलाइन हो गए। इसके साथ ही आपको किसी भी काम के लिये नगर निगम के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इतना ही नहीं सब कामों की मानीटरिंग भी प्रदेश स्तर पर ही हो रही है। विदित हो कि वर्तमान में सभी नगर निगम अपने साफ्टवेयर पर काम कर रहे हैं जिन्हें भविष्य में बंद कर दिया जाएगा।

    इन सुविधाओं को किया शामिल

    सीआरएम (कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट) के तहत विवाह पंजीयन, जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र, सभी प्रकार की शिकायतें, आवेदन, पेड़ काटने या लगाने की अनुमति, शव वाहन और टैंकर बुक करने की सेवाओं को शामिल किया गया है।

    प्रापर्टी और जलकर अभी शामिल नहीं

    ई नगर पालिका के तहत नगर निगम की सभी सेवाओं को तो शामिल कर लिया गया है लेकिन संपत्ति और जलकर को अभी इससे अलग रखा गया है। इनको लेकर भोपाल स्तर पर ही टेस्टिंग चल रही है। आने वाले समय में इन्हें भी शामिल कर लिया जाएगा।

    अधोसंरचना के काम भी

    अधोसंरचना के कामों को भी ई- नगर पालिका में शामिल किया गया है। इसके तहत फाइल बनने से लेकर स्वीकृति, मेजरमेंट बुक और भुगतान सभी कुछ ऑनलाइन होने लगे हैं। इनको प्रोजेक्ट मानीटरिंग सिस्टम के तहत रखा गया है।

    ऐसे कर सकते हैं आवेदन

    ई-पालिका के तहत आवेदन या शिकायत करने के लिए आपको एमपी ई नगर पालिका पोर्टल खोलना होगा। इसके बाद न्यू ग्रिवेंस ऑप्शन में क्लिक करना होगा जिसके बाद भाषा का चयन फिर शहर का चयन करने का ऑपशन आएगा। इन्हें क्लिक करते ही आवेदन या शिकायत का फार्मेट नजर आने लगेगा।

    हर दिन 50 आवेदन

    अभी तक नगर निगम के सभी विभागों को मिलाकर करीब 50 आवेदन या शिकायतें आती हैं। ये शिकायतें या आवेदन लिखित होते हैं। अब इनकी जगह ऑनलाइन शिकायत या आवेदन करने पर आपको तत्काल एक नंबर मिलेगा जिसके आधार पर आप पता कर सकेंगे कि शिकायत किस स्तर पर है उसका निराकरण हुआ या नहीं।

    नगर निगम में अब किसी भी प्रकार का नकद या चैक से लेनदेन नहीं हो रहा है। इन सबको प्रतिबंधित कर दिया गया है। किसी भी प्रकार का लेनदेन आरटीजीएस से होगा। इसके अलावा ई पालिका के तहत आवेदन और शिकायत भी की जा सकती है। यह भी शुरू हो चुका है।

    -रोहित कोशल, अपर आयुक्त वित्त

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें