इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) की मोबाइल लैब ने बुधवार को दूसरे दिन द्वारकापुरी में किराना दुकानों, दूध भंडार व रेस्टोरेंट सहित 21 स्थानों से सैंपल लिए। इस दौरान दो स्थानों पर गड़बड़ी मिली। राहुल ट्रेडर्स पर फन टूस ओरेंज ड्रिंक्स में सेक्रीन मिली पाई गई। उस पर जानकारी भी प्रिंट नहीं मिली। पैकेट पर शकर की मात्रा 10 फीसदी लिखी है, लेकिन लैब में जांच के बाद चार फीसदी ही मिली। इसके अलावा गायत्री किराना स्टोर पर सौंफ में कलर की मात्रा ज्यादा मिली है। दोनों सामग्री जब्त कर बिक्री के लिए मना किया है।

एफएसएसएआई ने इंदौर संभाग के लिए मोबाइल लैब वैन भेजी है। यह संभाग के सभी जिलों में पांच-पांच दिन घूमेगी। बुधवार को लैब ने द्वारकापुरी की दुकानों पर बिक रहे खाद्य पदार्थों की जांच की। इसमें शहद, काली मिर्च, सौंफ, गुड़, खाने के रंग, कोल्ड ड्रिंक्स, दूध, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी, धनिया, मिठाई, समोसे व इमरती सहित अन्य कई सैंपलों की जांच की गई।

इन स्थानों से लिए सैंपल

खाद्य व औषधि मुख्य निरीक्षक मनीष स्वामी ने बताया कि गायत्री किराना, गणेश किराना, नारायण टी कंपनी, पारस किराना, रवि किराना, राहुल किराना, ईश्वर दूध डेयरी भंडार, पूजा किराना, कृष्णा ट्रेडर्स, शिव नमकीन, सूरज ट्रेडर्स, न्यू जय माता दी किराना, खुशबू मसाला, न्यू रवि ट्रेडर्स, गुप्ता किराना स्टोर्स, श्री कृष्णा किराना, आनंद किराना, बसंत चाट हाउस और अग्रवाल समोसा कार्नर आदि से सैंपल लिए गए।