Naidunia
    Sunday, December 17, 2017
    PreviousNext

    पाठशालाओं से देश में

    Published: Mon, 14 Aug 2017 04:05 AM (IST) | Updated: Mon, 14 Aug 2017 04:05 AM (IST)
    By: Editorial Team

    पाठशालाओं से देश में बनी गुना की अनूठी पहचान

    - विद्यासागर पाठशाला का 13वां वार्षिकोत्सव और कलश स्थापना समारोह आयोजित

    गुना। नवदुनिया प्रतिनिधि

    शहर के विभिन्न मंदिरों में चल रही पाठशालाओं के कारण ही देश में गुना की अलग पहचान बनी है। यह बात जैन समाज की प्रबंध कार्यकारिणी समिति अध्यक्ष संजीव जैन ने रविवार को दिगंबर जैनाचार्य विद्यासागर पाठशाला के 13वें वार्षिकोत्सव कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होंने कहा कि पाठशाला नौनिहालों में संस्कारों का बीजारोपण कर रही है।

    स्थानीय चौधरी मोहल्ला स्थित महावीर परिसर में पाठशाला की बहनों और बधाों की उपस्थिति में उक्त कार्यक्रम हुआ। सुबह 7.30 बजे आचार्यश्री की पूजन के बाद पाठशाला के बधाों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से देशभक्ति और संस्कारों की महत्ता बताई। इस अवसर पर पाठशाला में कलश स्थापना का सौभाग्य ड्रा के माध्यम के माध्यम से यशी जैन को मिला। इस अवसर पर पाठशालाओं में निस्वार्थ भाव से सेवाएं दे रही बहनों और उनके माता-पिता का सम्मान किया गया। उल्लेखनीय है कि जैनाचार्य विद्यासागर महाराज के शिष्य पाठशाला प्रणेता मुनिश्री प्रशांत सागर एवं निर्वेग सागर महाराज के सानिध्य और प्रेरणा से शुरू हुई पाठशाला में प्रतिदिन शाम को नौनिहालों को धार्मिक शिक्षा के साथ लौकिक शिक्षा दी जा रही है। गुना में वर्ष 2004 में मुनिद्वय द्वारा पाठशाला की स्थापना की थी। तत्समय शहर में विद्यादान के लिए जो पाठशाला रूपी बीज बोया था, वह धीरे-धीरे वटवृक्ष के रूप में फलीभूत हो रहा है। इसी तारतम्य में पाठशाला परिवार द्वारा अपना 13वां वार्षिकोत्सव एवं कलश स्थापना समारोह मनाया गया। इस मौके बजरंगगढ़ कमेटी अध्यक्ष एसके जैन, अनिल अंकल, सुरेश जैन, बाबूलाल चौधरी, राजेन्द्र जैन शिक्षक, संभव जैन, शैलेश चौधरी, अज्जाू जैन, वैभव जैन, जितेन्द्र भैयाजी, अमन जैन, मधुर जैन आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन ब्रह्मचारिणी बहन पल्लवी जैन एवं रीना जैन ने किया।

    फोटो-

    1308जीयूएनए-22, गुना। विद्यासागर पाठशाला के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में प्रस्तुति देता बालक।

    ---

    और जानें :  # ashoknagar
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें