फॉलोअप

न वजह का पता, न लग रहा हत्यारों का सुराग

बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

सुनील कांकरिया हत्याकांड मामले में पांच माह बाद भी पुलिस हत्यारों तक नहीं पहुंच पाई है। पुलिस ने अब तक जितने पहलुओं पर तहकीकात की है। कोई भी सुराग आरोपियों तक नहीं पहुंचा पाया है। इस केस में मध्य प्रदेश ही नहीं महाराष्ट्र-छत्तीसगढ़ की खाक छानने के बाद भी पांच माह बीत जाने के बाद भी पुलिस की तहकीकात किसी नतीजे तक नहीं पहुंच पाई है। महीनों बीत जाने के बाद भी हत्या की वजह और हत्यारों की तलाश नहीं कर पाई है। पुलिस इस मामले में सांप भी न मरे लाठी भी न टूटे की तर्ज पर पटाक्षेप करने में लगी है।

कांकरिया हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस के हाथ अब तक जितने सुराग लगे हैं। उससे पुलिस की तहकीकात किसी नतीजे तक नहीं पहुंच पाई है। 5 महीने से पुलिस क्राइम और लीड एंगल से काम कर रही है।

पुलिस के हाथ लगा एक मात्र सुराग

आरोपियों के गुनाहों के निशान तलाश रही पुलिस के हाथ महज सीसीटीवी फुटेज ही लगे हैं, जिसकी बिनाह पर पुलिस आरोपियों की तलाश करती रह गई। आरोपियों के रुट मैप के जरिए अब तक पुलिस ने जितने बिंदुओं पर जांच की है। कई नई कड़ियों में उलझी पर आरोपियों तक नहीं पहुंची।