*इसी माह समाप्त होगा वर्तमान एंबुलेंस का अनुबंध

खरगोन। नईदुनिया प्रतिनिधि

इंसानों की सुविधा के लिए मुहैया 108 एंबुलेंस की तर्ज पर मवेशियों के लिए 109 एंबुलेंस चल सकती है। यह सर्वसुविधायुक्त होगी। वर्तमान में जिले में संचालित चलित पशु चिकित्सा इकाई का अनुबंध इस माह के अंत में खत्म हो जाएगा।

हालांकि नई सुविधा को लेकर पशु चिकित्सा विभाग के पास कोई अधिकृत सूचना नहीं है। परंतु अधिकारियों ने इस बात की संभावना जताई है कि मवेशियों की देखभाल और उनके स्वास्थ्य के मद्देनजर नई योजना जिले में लागू हो सकती है। जिले में फिलहाल 5 चलित पशु चिकित्सा इकाई संचालित है। 30 सितंबर तक इन वाहनों का अनुबंध है।

कॉल करने पर

होगी उपलब्ध

बताया जाता है कि इस योजना को लेकर विभाग अपने स्तर पर तैयारियों में जुटा है। 108 की तर्ज पर ही 109 एंबुलेंस संचालित की जाएगी। पशुओं को चिकित्सा सुविधा के लिए पशुपालक या अन्य नागरिक 109 पर संपर्क करेंगे। इसके बाद वाहन पशुओं के पास ईलाज के लिए पहुंचेगा। यहां प्राथमिक उपचार के अलावा जरूरत पड़ने पर पशु को अन्य अस्पतालों में रेफर भी किया जा सकेगा।

स्टाफ पूर्ति के

लिए लिखा पत्र

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में जिला मुख्यालय पर पशु चिकित्सा विभाग में नई एंबुलेंस आई है। इस एंबुलेंस का संचालन जल्द किया जाएगा। विभाग ने इसके संचालन के लिए कलेक्टर को पत्र भी लिखा है। इस पत्र के माध्यम से एंबुलेंस के लिए संचालन के लिए स्टाफ की पूर्ति की भी मांग की गई है। विभाग के अनुसार इस एंबुलेंस का संचालन स्थानीय स्तर पर कॉल सेंटर बनाया जाएगा। पशुओं के घायल होने पर मौके पर पहुंचकर प्राथमिक उपचार किया जाएगा। जरूरत होने पर रेफर करने की सुविधा भी होगी।

:: जिले में पशु एक नजर में ::

*529621 गौवंश

*201923 भैस वंश

*280605 भेड़-बकरी

*2900068 कुक्कुट

(आंकड़े वर्ष 2012 की पशु गणना के अनुसार)

बीमार व घायल मवेशियों के लिए वर्तमान एंबुलेंस व चिकित्सक उपलब्ध है। यदि अनुबंध समाप्त हुआ तो वैकल्पिक व्यवस्था में शासन द्वारा नई 109 एंबुलेंस सुविधा उपलब्ध कराई जा सकती है। फिलहाल पांच चलित पशु चिकित्सा इकाई संचालित है।

-डॉ. राजू रावत, उपसंचालक

पशु चिकित्सा सेवाएं, खरगोन