-मामला ब्राह्मणगांव पंचायत का

ठीकरी। नईदुनिया न्यूज

जनपद पंचायत सदस्य के पुत्र ने एक बार फिर ग्राम पंचायत ब्राह्मणगांव में हुए कार्यों में अनियमितता व भ्रष्टाचार की सूक्ष्म जांच करने को लेकर कलेक्टर को आवेदन दिया है। इसी मामले को लेकर पिछले विधानसभा चुनाव के पूर्व ग्रामीणों द्वारा आंदोलन कि या गया था। इस पर जांच दल बनाया गया था। ग्रामीणों ने जांच दल के निरीक्षण पर भी सवाल उठाते हुए पुनः सूक्ष्म जांच की मांग की है।

ग्राम चेनपुरा निवासी संजय पिता जगदीश कु मावत आरोप लगाते हुए बताया कि ग्राम में शासकीय राशि से निर्माण कार्यों व सार्वजनिक हित के समस्त कार्यों में सरपंच व सचिव द्वारा 2014-2015 से आज तक कार्यो में स्वीकृति से अधिक राशि निकाल कर अनियमितता की गई, जो जांच का विषय है। शिकायत जनसुनवाई के माध्यम से कलेक्टर को की गई थी। कार्यो की जांच व उचित कार्रवाई का विवरण आवेदन में दिया गया था, लेकि न कोई कार्रवाई नहीं की गई। एसडीएम व जिला पंचायत में भी कई बार शिकायत व शपथ पत्र पेश करने के बाद भी कोई जांच नहीं की गई। ग्रामीणों ने शिकायती आवेदन में 2014 से आज तक हुए निर्माण कार्यों के गुणवत्ता व आय व्यय की उचित जांच कर संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। शिकायत को लेकर जिला पंचायत सीईओ अंकि त अस्थाना ने कहा कि फिलहाल निर्वाचन कार्य में लगे हैं। इसे दिखवाया जाएगा।

आरोपः इन कार्यों की निकाली राशि

- शासकीय स्कू ल के समीप का सामुदायिक शौचालय लागत दो लाख, राशि निकाली तीन लाख 7 हजार 290 रुपए।

- अन्य सामग्री के नाम से दो लाख रुपए, कई लोगों के नाम से ईटों के फर्जी बिल लगाकर राशि निकाली।

- नंदगांव में श्मशान मार्ग गजानंद बाबू के घर से गणेश मंदिर तक सीसी रोड निर्माण लागत 12 लाख 29 हजार, आहरित राशि 16 लाख 11 हजार 596 रुपए।

- आहरण राशि की जानकारी पंच परमेश्वर के पोर्टल पर उपलब्ध है।

- एलईडी बल्ब के नाम से 6 दिसंबर 2018 को 28 हजार 440 रुपए, 34 हजार 800 रुपए ठीकरी व धामनोद की दुकानों के नाम से आहरित कि ए गए। इस समय में कि सी भी प्रकार से एलईडी बल्ब ग्राम पंचायत द्वारा नहीं लगाए गए। जनपद पंचायत सदस्य द्वारा जन सहयोग से बल्ब लगाए गए।

- पांच कार्य टेस्ट के नाम से लाखों रुपए की राशि आहरित की गई। इसमें कि सी भी कार्य का कोई संबंध नहीं है।