बड़वानी। ब्यूरो। जिले के विभिन्न् हिस्सों में प्रदूषित पानी व खाद्य सामग्री से लोगों के प्रभावित होने का सिलसिला जारी है। अब निवाली क्षेत्र के ग्राम पिछोड़ी में फूड पॉयजनिंग से एक महिला की मौत व उसके पति-बेटे के गंभीर बीमार होने का मामला प्रकाश में आया है। मामले की सूचना मिलने के बाद सीएमएचओ डॉ. रजनी डावर ग्राम पहुंची और पूरी जानकारी ली। डॉ. डावर ने बताया कि मामले में लापरवाही पाए जाने पर संबंधित डॉक्टर को शोकाज नोटिस दिया गया है। वहीं नर्स के निलंबन की कार्रवाई की गई है।

जानकारी अनुसार ग्राम पिछोड़ी में तीन दिन पूर्व मछली खाने के बाद एक ही परिवार के तीन लोग बीमार हो गए। जिन्हें उपचार के लिए निवाली के शासकीय अस्पताल भर्ती किया गया। बीमारों में शामिल कामताबाई (45) पति भायला की बुधवार को मौत हो गई। वहीं भायला व उसके बेटे को गंभीर अवस्था में जिला अस्पताल रैफर किया गया। मामले में पुलिस ने मर्ग कायम किया है। पोस्टमार्टम पश्चात शव परिजनों को सौंपा गया।

सीएमएचओ ने की कार्रवाई

मामले की सूचना पर ग्राम पिछोड़ी पहुंची सीएमएचओ ने संबंधित परिवार सहित अन्य लोगों से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने ग्रामीणों को खाने-पीने की सामग्री व पेयजल के उपयोग में साफ-सफाई रखने की समझाइश दी। सीएमएचओ डॉ. डावर ने बताया कि मरीज भर्ती होने के बावजूद ध्यान न देने पर निवाली के डॉ. मुकेश दांगी को शोकाज नोटिस दिया है। वहीं नर्स लक्ष्मी सोलंकी को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है।