ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

डोगरा मोहना में डिलेवरी के बाद महिला को गुरुवार को कमलाराजा अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां महिला की शनिवार को उपचार के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने इस मामले में चिकित्सकों पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। परिजनों के मुताबिक अस्पताल में डॉक्टरों ने ध्यान नहीं दिया, थाने पहुंचे तो वहां से बिना आवेदन लिए भगा दिया। इसके बाद परिजन बिना शिकायत दर्ज कराए शव लेकर रवाना हो गए।

सोमवती बाई (30) निवासी डोगरा मोहना ने गुरुवार को मोहना के अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया। प्रसव के बाद महिला की हालत बिगड़ी तो कमलाराजा अस्पताल रेफर कर दिया गया। जेठ चंदन सिंह ने बताया कि महिला को खून की कमी बताई गई थी। डॉक्टर के कहने पर हमने खून की व्यवस्था भी कर दी, खून चढ़ाने के बाद भी महिला की हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा था। शुक्रवार-शनिवार की रात महिला की तबीयत जब अधिक बिगड़ी तो डॉक्टर को बुलाने पहुंचे, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। शनिवार की सुबह महिला ने दम तोड़ दिया। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने इलाज में लापरवाही बरती है, जिसके कारण महिला की मौत हो गई। उधर चिकित्सकों के मुताबिक महिला में खून की काफी कमी थी और हालत गंभीर बनी हुई थी।

थाने में भी नहीं हुई सुनवाईः

परिजनों ने पहले तो अस्पताल में हंगामा किया, इसके बाद कंपू थाने भी पहुंचे। परिजनों के मुताबिक थाने में आवेदन देने गए तो उन्होंने भी लेने से इंकार कर दिया। परिजन बिना शिकायत दर्ज कराए शव लेकर रवाना हो गए।