ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर की लाइफ लाइन कही जाने वाली 108 एम्बुलेंस अब भरोसेमंद नहीं रही है। मेंटेनेंस के अभाव में ये कभी भी धोखा दे सकती है। चीनौर के पास पथरिया गांव में सड़क हादसे में घायलों को लेने पहुंची टेकनपुर प्वाइंट की एम्बुलेंस के ब्रेक फेल हो गए। पायलट ने बहुत कोशिश की तब घटना स्थल से एक किमी आगे जाकर उसे रोक सका। इसके बाद घायलों को डायल 100 वाहन से अस्पताल पहुंचाया गया।

चीनौर के पास पथरिया गांव में शनिवार को एक बुलेरो हादसे का शिकार हो गई। इस घटना में 70 वर्षीय अंगूरी देवी सहित 2 लोग घायल हुए थे। घटना की सूचना मिलते ही टेकनपुर प्वाइंट पर तैनात एम्बुलेंस (एमपी 02 एवी 5656) को रवाना किया गया। गाड़ी घटना स्थल पर पहुंची तो पायलट ने ब्रेक लगाने का प्रयास किया, लेकिन गाड़ी नहीं रुकी। ब्रेक फेल हो चुके थे, करीब एक किमी दूर जाकर वाहन को रोकने में सफलता मिली। पुलिस को जब एम्बुलेंस में आई खराबी की जानकारी लगी तब डायल 100 के जरिए घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया।

गिरवाई के वाहन के भी ब्रेक फेलः

गिरवाई प्वाइंट पर तैनात 108 एम्बुलेंस (एमपी 02 एवी 5657) मरीज को अस्पताल छोड़कर लौट रही थी तभी फेन बेल्ट टूट गया। इससे गाड़ी के ब्रेक फेल हो गए। इसके बाद गाड़ी को ऑफ रोड कर दिया गया। गौरतलब है हजीरा प्वाइंट की एम्बुलेंस वीआईपी ड्यूटी पर लगी है, जबकि गोला का मंदिर प्वाइंट का वाहन रतनगढ़ मेले में तैनात है। वर्तमान में केवल 4 एम्बुलेंस ही उपलब्ध हैं।

मेंटेनेंस के अभाव में हो रही परेशानीः

108 वाहनों में परेशानी लंबे समय से बनी हुई है। इसका मुख्य कारण समय पर वाहनों का मेंटेनेंस नहीं होना। अधिकांश वाहनों में उपकरण तक नहीं है। एसी काम नहीं कर रहे हैं, जिसके कारण मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।