ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

आरओबी का काम तो चल रहा है, लेकिन पूरा कब तक होगा। पिलर और गार्डर का काम कहां तक पहुंचा है। सर, ब्लॉक यदि मिल जाते हैं तो दिसंबर के अंत या जनवरी में पूरा हो जाएगा। आप लोग ब्लॉक की तारीख तय करें, मंजूरी दिलाना मेरा काम है। मुझे ये काम जल्द से जल्द पूरा चाहिए, इसलिए काम की रफ्तार कम नहीं होना चाहिए।

यह बात झांसी डीआरएम अशोक कुमार मिश्र ने शनिवार को नए पड़ाव आरओबी के निरीक्षण के दौरान कही। डीआरएम उत्कल एक्सप्रेस से ग्वालियर पहुंचे। यहां से वह सबसे पहले नए पड़ाव आरओबी का निरीक्षण करने पहुंचे थे। इसके बाद डीआरएम आरपीएफ थाने पहुंचे। यहां आईओडब्ल्यू से होने वाले कामों के बारे में जानकारी मांगी। आरपीएफ अधिकारियों ने बताया कि थाने में शौचालय नहीं है, जिससे बड़ी परेशानी होती है। इस पर डीआरएम ने आईओडब्ल्यू अधिकारियों से नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि काम कब तक पूरा होगा, यदि नहीं कर पा रहे हो तो बताओ, हम करवाने की व्यवस्था करें।

पेटी खिसकाई तो निकली चार बोतलें:

डीआरएम को देख कुलियों ने कहा कि आप आए हैं तो हमारे कुली रूम भी देख लें। डीआरएम ने कहा कि पिछली बार गया था तो शराब की बोतलें निकली थीं, यदि इस बार भी मिली तो 10 हजार का जुर्माना लगाऊंगा। कुलियों के कहने पर डीआरएम कुली रूम में पहुंचे। यहां पर बाहर गंदगी दिखी, जिस पर नाराजगी जाहिर की। कुली अपनी समस्याएं बता ही रहे थे कि तभी डीआरएम ने पेटी खिसकाई तो चार शराब की बोतलें निकल आईं। डीआरएम ने बोतल दिखाते हुए कहा कि अब बताओ लगाऊं तुम पर जुर्माना। यदि शराब नहीं पीते तो बोतले कहां से आईं।

भट्टियां तुड़वाई, चार गिरफ्तारः

डीआरएम जब कुली रूम की तरफ पहुंचे तो यहां पर चाय की भट्टियां देख नाराजगी जाहिर की। इसके बाद सभी भट्टियों को तुरंत तोड़ दिया गया। आरपीएफ ने रेलवे एक्ट के तहत चार लोगों को गिरफ्तार भी किया।

भिंड उदी मोड़ का निरीक्षणः

ग्वालियर रेलवे स्टेशन, नए पड़ाव आरओबी के निरीक्षण के बाद डीआरएम भिंड के लिए रवाना हुए। यहां उन्होंने मालनपुर स्टेशन का निरीक्षण कर अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिए। इसके बाद चंबल नदी पुल, उदी मोड़ और भिंड में विकास कार्यों को लेकर चर्चा की।

माल गोदाम देखने पहुंचेः

डीआरएम देर शाम फिर ग्वालियर पहुंचे और रायरू में माल गोदाम देखने गए। यहां निर्माण कार्य को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए हैं। माल गोदाम मार्च तक रायरू शिफ्ट हो जाएगा। वहीं ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर बना आरपीएफ थाना भी स्टेशन परिसर में जगह मिलते ही शिफ्ट किया जाएगा। डीआरएम ने जगह तलाशने के लिए आरपीएफ को निर्देश दिए हैं।