ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कॉलेज भवन चुनाव कार्य के लिए अधिग्रहित है। छात्रों के 11 दिसम्बर तक आने पर ही रोक लगी है। ऐसे में यह कैसे संभव है कि हम 14 दिसम्बर तक प्रायोगिक परीक्षाएं करवाने के साथ ही उनके अंक जीवाजी विश्वविद्यालय में जमा कर दें।

यह सवाल एमएलबी कॉलेज प्राचार्य डॉ.केएस राठौर ने जीवाजी विश्वविद्यालय भेजे गए एक पत्र में उठाया है। दरअसल जीवाजी विश्वविद्यालय ने 3 दिसम्बर को एक अधिसूचना जारी की थी। इस अधिसूचना में कहा था कि स्नातक स्तर पर बीए, बीकॉम, बीएससी, बीएचएससी पंचम सेमेस्टर के नियमित, प्रायवेट, भूतपूर्व व एटीकेटी छात्रों की प्रायोगिक परीक्षाओं के अंक 14 दिसम्बर तक ऑनलाइन अपडेट करें। 20 दिसम्बर तक अंकों की हार्ड कॉपी जीवाजी विश्वविद्यालय में जमा कराएं। अधिसूचना में कॉलेज प्राचार्यों को यह भी बताया है कि वाह्य परीक्षकों के नियुक्ति पत्र संबंधित कॉलेजों को ईमेल आईडी पर भेज दिए गए हैं। इसके साथ ही स्नातकोत्तर स्तर पर भी तृतीय सेमेस्टर के लिए यही समय सीमा तय की है।

हमारे लिए यह संभव ही नहीं

एमएलबी कॉलेज प्राचार्य डॉ.केएस राठौर ने इस अधिसूचना के जवाब में 5 दिसम्बर को एक पत्र जेयू में भेजा है। इसमें कहा गया है कि कॉलेज में 11दिसम्बर को मतगणना कार्य होना है। पूरा कॉलेज भवन चुनाव कार्य के लिए अधिग्रहित है। ऐसे में 14 दिसम्बर तक प्रायोगिक कार्य कराना और अंक भेजना कैसे संभव हो सकता है।

अन्य कॉलेजों में भी संकट

अन्य जिलों के वे सभी कॉलेज प्राचार्य परेशानी में हैं, जहां-जहां कॉलेज भवन का उपयोग चुनाव कार्य में हो रहा है। यहां भी ठीक वैसी ही समस्या है, जैसी एमएलबी कॉलेज में आ रही है।