ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

मुख्य मार्ग पर वाहनों का दबाव कम करने के लिए निगम ने अतिक्रमण हटाकर स्वर्ण रेखा नदी किनारे सड़क का निर्माण कराया। सड़क बनाने का मकसद था कि बढ़ते यातायात का दबाव कम किया जा सके। वहीं शिंदे की छावनी में सड़क बनाई लेकिन बेरिकेड्स लगाकर बंद कर दिया। इससे जहां निगम का पैसा व समय बर्बाद हुआ वहीं इस सड़क का लाभ लोगों को नहीं मिल रहा है।

शिंदे की छावनी में सड़ के दोनों ओर लगाए बेरिकेड्स-

गुरुद्वारे से नदी गेट के बीच में स्वर्ण रेखा नाले किनारे अतिक्रमण हटाकर कुछ साल पहले सड़क बनाई गई थी। इसमें दो दर्जन से अधिक मकानों को तोडकर रास्ता निकाला गया था। इस पर लाखों रुपए खर्च हुए थे। इस सडक पर यातायात भी शुरू हुआ। लेकिन अचानक चार माह पहले सड़क के दोनों ओर बेरिकेड्स लगा दिए गए। जिससे सड़क से चार पहिया वाहन न गुजर सकें । अब इस सडक का उपयोग केवल दो पहिया वाहनों के गुजरने के लिए किया जा रहा है।

सड़क बनी पार्किंग-

अब इस सडक का उपयोग वाहन पार्किंग व वाहनों को सुधारने के लिए किया जा रहा है। सड़क पर मिस्त्री बैठकर वाहनों को सुधारने का काम करते। जबकि वहां पर रहने वाले पार्किंग में उपयोग ले रहे हैं। इतना सब होने के बाद भी लोगों से जाम से राहत नहीं मिल सकी।

वन वे तो किया पर अतिक्रमण पर कोई ध्यान नहीं-

इंदरगंज चौराहा पर लगने वाले जाम को देखते हुए यातायात पुलिस ने अचलेश्वर से आने वाले रास्ते व इंदरगंज से रोश्नी घर की ओर जाने वाले रास्ते को बेरिकेड्स लगा कर वन वे कर दिया, जिससे यहां पर लगने वाले जाम से निजात मिल सके। किसी हद तक इससे लोगों को राहत भी मिली। पर रोश्नी घर वाले रोड पर बैठने वाले मिस्त्री वाहन सड़क पर ही सुधारने का काम करने लगे। यही नहीं सडक किनारे स्कूल बस व अन्य वाहन पार्क किए जाने लगे। वन वे होने के बाबजूद वाहन चालकों को यहां से गुजरने में परेशानी उठानी पड रही है।

स्टेडियम व स्पोर्ट्स क्लब के बीच का रास्ता बंद-

स्टेडियम व स्पोर्ट्स क्लब के बीच से गुजरने वाले रास्ते को विद्युत विभाग के कर्मचारियों ने बेरिकेड्स लगा कर बंद कर दिया। अब इस रास्ते से दो पहिया वाहन भी नहीं गुजर सकेंगे। निगम का विद्युत विभाग स्टेडियम की बिल्डिंग में खुला हुआ है। विद्युत कर्मचारियों का कहना है कि यह जमीन निगम की है। उनका कहना है कि बिजली का सामान व वाहन रखने के लिए इस रास्ते को बंद किया गया,आगे चलकर इस रास्ते पर दीवार खड़ी की जाएगी।

वर्जन-

गुरुद्वारा चौराहा व छप्परवाले पुल से आने वाले वहानों से जाम लग रहा था। निगम के सहयोग से तीन दिन तक सर्वे किया। पुल पर लगने वाले जाम से निपटने के लिए सडक पर बेरिकेड्स लगाकर बंद कर दिया । अतिक्रमण निगम हटाए सहयोग पुलिस करेगी।

आरएन त्रपाठी , डीएसपी यातायात