फोटो----8 बीटीएल 2

शाहपुर। नवदुनिया न्यूज

भगवान राम के लंका विजय कर लौटने की खुशी में दीपावली के दूसरे दिन अन्नाकूट का पर्व पारंपरिक उत्साह से मनाया गया। नगर के श्री राम मंदिर, श्री कृष्ण मंदिर में भगवान को भांति-भांति के व्यंजन का भोग लगाया गया। भगवान को 56 से भी अधिक प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाया गया। मान्यता है कि इंद्रदेवता के प्रकोप से गोकुल को बचाने वाले भगवान कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को एक उंगली पर उठाया था। इसी का महत्व मनाते हुए भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पूजन व अन्नाकूट का भंडारा किया था। उसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए दीवाली से अगले दिन 8 नवंबर दिन गुरुवार को श्री राम मंदिर एवं श्री कृष्ण मंदिर में अन्नाकूट भंडारा वितरित किया गया। श्रीराम संकीर्तन सभा मंदिर में भी अन्नाकूट व गोवर्धन पूजा पर्व पूरी श्रद्धा व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मंदिर कमेटी के अध्यक्ष अरविंद गुप्ता एवं मंदिर कमेटी समाजसेवी सूर्यकांत सोनी , अनिल जैन ,गोवर्धन गुप्ता , ओम प्रकाश गुप्ता की देखरेख में आयोजित कार्यक्रम में गोवर्धन पूजन व ठाकुर जी को 56 प्रकार के व्यंजनों का भोग लगाया गया। मंदिर कमेटी के अध्यक्ष अरविंद गुप्ता ने बताया कि मंदिर में भजन संकीर्तन किया गया। भोग के उपरांत अन्नाकूट का भंडारा वितरित किया गया। समाजसेवी सूर्यकांत सोनी के द्वारा भगवान के लिए 56 भोग बनाये गये। इस भव्यआयोजन में मंदिर कमेटी के पदाधिकारी नगरवासी आदि ने सहयोग किया।