कामाख्या मंदिर से निकली शोभयात्रा, झांकी देखने उमड़े ग्रामीण

फोटो----8बीटीएल 7

मुलताई। निकाली गई भव्य शोभायात्रा।

मुलताई। नवदुनिया न्यूज

नगर के समीपस्थ ग्राम डहुआ में दीपावली पर शोभायात्रा एवं आकर्षक झांकियों के साथ ऐतिहासिक रामलीला का मंचन प्रारंभ हुआ। गांव के प्रसिद्ध कामाख्या माता मंदिर से धूमधाम से झांकियों सहित शोभायात्रा निकली। इसमें बड़ी संख्या में डहुआ सहित आसपास के गावों के लोग शामिल हुए। इस दौरान जगह-जगह लोगों ने पुष्प वर्षा कर आरती उतार कर शोभायात्रा का स्वागत किया। ग्रामीण मनोज बारंगे ने बताया कि प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी डहुआ में ऐतिहासिक रामलीला का शुभारंभ किया गया। राम जन्म के साथ ही रामलीला का मंचन प्रारंभ होगा। उक्त रामलीला बुजुर्गों द्वारा वर्ष 1934 में प्रारंभ की गई थी जिसका आज तक अनवरत मंचन प्रारंभ है इसलिए अब रामलीला ऐतिहासिक हो गई है। रामलीला में स्थानीय ग्रामीणों द्वारा शानदार अभिनय किया जाता है जिससे रामलीला देखने डहुआ सहित आसपास के लोग भारी संख्या में मंचन देखने उमडते हैं। ग्रामीणों के अनुसार रामलीला का पूरे क्षेत्र वासियों को बेसब्री से इंतजार रहता है तथा पूरे उत्साह एवं श्रद्धा के साथ लोग रामलीला देखने आते हैं, जिससे रामलीला की प्रसिद्धी दूर-दूर तक फैली हुई है। बताया जा रहा है कि रामलीला में अभिनय करने एवं रामलीला देखने के लिए डहुआ से बाहर गए लोग भी गांव ंआते हैं तथा रामलीला मंचन के दौरान पूरे गांव में उत्सव का माहौल होता है।

रामजन्म और ताड़का वध आज

दीपावली पर्व पर रामलीला का श्रीगणेश होने के बाद दूसरे दिन राम जन्म की लीला दिखाई जाती है लेकिन इस साल गुरुवार गांव के बुजुर्ग की मौत होने के कारण रामलीला का मंचन स्थगित किया है। मनोज बारंगे ने बताया कि शुक्रवार रामजन्म की लीला का मंचन किया जाएगा। राम जन्म के साथ ताड़का वध की लीला का मंचन किया जाएगा।