भिंड। शहर में मुकुट बिहारी गली पुरानी बस्ती में स्थित आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 19/4 पर बच्चों के लिए पहुंचे पोषण आहार (दलिया) में मरी हुई छिपकली निकलने का मामला सामने आया है। गनीमत रही कि किसी बच्चे ने दलिया को खाया नहीं था।

दलिया में छिपकली निकलने पर कार्यकर्ता और सहायिका ने सुपरवाइजर को सूचना दी। सुपरवाइजर ने मौके पर पहुंचकर जांच कर आहार भेजने वाले समूह संचालक वार्ड 15 की पार्षद अंजुला दीक्षित के पति व पूर्व पार्षद जुग्गन दीक्षित बुलवाया।

पार्षद पति ने कहा कि दलिया बच्चों ने खाया तो नहीं है, किसी बच्चे को कोई परेशान हुई है क्या? यह कहते हुए उन्होंने दलिया से भरी बाल्टी उठाकर फेंक दी। साथ ही कहा कि दलिया को बनाते समय छिपकली नहीं गिरी। सुपरवाइजर का कहना है कि वह समूह और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिका को नोटिस जारी कर रही हैं।

इनका कहना है

दलिया में छिपकली निकलने के मामले की जांच कर रहे हैं। हम आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और समूह को नोटिस जारी कर रहे हैं। आखिर दलिया में छिपकली कहां गिरी है।

सुमन कुशवाह, सुपरवाइजर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

दलिया में छिपकली बनाते समय नहीं गिरी है, क्योंकि बनाते समय गिरी होती हो वह पूरी तरह से गल जाती। ऐसा लग रहा है कि छिपकली को किसी ने मारकर उसमें डाला है। हमारे खिलाफ सहायिका साजिश कर रही है।

जुग्गन दीक्षित, पार्षद पति व सदस्य सुशीला देवी महिला मंडल स्व-सहायता समूह