भिंड। 'आप अपनी दुकान में नाबालिग बच्चे से काम करा रहे हो, जबकि यह कानूनन जुर्म है। नाबालिग से काम कराने पर तुम्हें सजा और जुर्माना भी हो सकता है। यह बात मंगलवार को श्रम निरीक्षक मुरारीसिंह ने जिला पंचायत मार्केट में स्थित संतोष किराना स्टोर के संचालक संतोष गुप्ता पुत्र रामनारायण गुप्ता निवासी गल्ला मंडी से कही। व्यापारी श्री गुप्ता ने कान पकड़कर माफी मांगते हुए कहा कि आज के बाद हम किसी भी नाबालिग से काम नहीं कराएंगे। इस बार छोड़ दो। अगर फिर से दुकान पर बच्चा काम करता मिला तो बेशक सील कर देना।

मालूम हो, कि शहर में कई प्रतिष्ठानों पर लोग बच्चों से काम करा रहा हैं। इसको लेकर बुधवार को श्रम निरीक्षक मुरारीसिंह, सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष रविन्द्र कुमार शर्मा, चाइल्ड लाइन से राघवसिंह राठौड़, शिवांगसिंह, नीलकमलसिंह भदौरिया, अनमोल चतुर्वेदी, आरक्षक बहादुरसिंह यादव, योगेन्द्र सिंह ने बाजार में कार्रवाई की।

बच्चा बोला घर की आर्थिक स्थिति खराब है

व्यापारी की दुकान पर दोपहर 2 बजे टीम पहुंच गई। यहां 13 साल का बालक काम करता मिला। टीम ने बालक का काम करते हुए फोटो खींच लिया। टीम ने बालक से पूछा कि यहां कब से काम कर रहे हो। बालक ने कहा कि वह कल से ही काम करने आया है। टीम ने पूछा कि स्कूल क्यों नहीं जाते तो बालक ने कहा कि हमारे घर की आर्थिक स्थिति कमजोर है। पढ़ाई के लिए पैसे नहीं है। इसलिए यहां कामर करने आया हूं।

व्यापारी ने बालक को भाग जाने का इशारा किया। लेकिन सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष ने इशारा देख लिया तो तुम बालक को भागने के लिए क्यों कह रहे हो। अगर वह भाग गया तो तुम्हारी दुकान सील कर कार्रवाई होगी।

दुकानदार बोले-10वीं में 2 बार फेल हो गया, मैंने ही फार्म भरवाया था

टीम सिटी कोतवाली स्थित संतोष ऑटो पार्ट्स की दुकान पर पहुंची। यहां एक बालक बाइक की सर्विस करता हुआ मिला। टीम ने बालक से कहा कि तुम्हारी क्या उम्र है तो बालक ने कहा कि वह 10वीं में पढ़ रहा है और उसकी उम्र 18 साल पूरी हो गई है, तभी दुकानदार सतीश जैन पुत्र मुन्नाालाल जैन निवासी इटावा रोड आ गए और बोले कि बालक 10वीं में 2 बार फेल हो गया था। इसका फार्म मैंने ही भरवाया था।

टीम ने बालक को आधार कार्ड घर से लाने के लिए कहा। बालक 15 मिनट तक नहीं आया तो टीम ने जैन ने कहा कि तुमने बालक का भगा दिया है। अब तुम्हारी दुकान सील करेंगे। टीम की बात सुनकर श्री जैन ने बालक को फोन लगाकर कहा कि जल्द लौट आओ नहीं तो दुकान सील हो जाएगी।

घर में कोई करने वाला कोई नहीं

टीम इंदिरा गांधी चौराहे के पास पहुंची। यहां एक ऑटो पार्टस की दुकान पर बालक काम कर रहा था। टीम ने बालक से पूछा तो उसने कहा कि वह कक्षा 4 का छात्र है। टीम ने बच्चे को स्कूल जाने और पढ़ाई करने के फायदे किए। पीडब्लयूडी कॉलोनी के पास आाजाद ऑटो पार्टस की दुकान नर एक बालक काम करता मिला। टीम पहुंचने पर बालक ने कहा कि वह आज ही काम करने के लिए दुकान पर आया है और आप लोग कार्रवाई के लिए आ गए।

4 घंटे चली कार्रवाई, दुकानों से बच्चे गायब हुए

बुधवार का टीम ने दोपहर 2 बजे से कार्रवाई शुरू की। टीम ने किराना स्टोर, होटल, फोटो स्टूडियो, कपड़ों दुकान और हाथ ठेला पर काम करने वालों पर कार्रवाई की। बाजार में टीम आने की खबर सुनकर व्यापारियों ने दुकान पर काम करने वाले बच्चें को भगा दिया। टीम ने नाबालिगों से काम कराने वालों के प्रकरण बना लिया और संबंधितों से बच्चों से काम नहीं कराने की बात कही।

इनका कहना है

प्रतिष्ठानों पर बच्चों से काम करना पूरी तरह कानूनन जुर्म है। कार्रवाई के दौरान कई जगह नाबालिग बच्चे काम करते मिले। बच्चों से काम कराने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं।

-मुरारीसिंह, श्रम निरीक्षक भिंड