भिंड। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भिंड-दतिया लोकसभा सीट के लिए एसएएफ ग्राउंड में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे। यहां से कांग्रेस ने देवाशीष जरारिया को चुनाव मैदान में उतारा है। राहुल ने कहा कि कुछ दिन पहले जब मैं छत्तीसगढ़ में भाषण दे रहा था, इसी दौरान जब मैंने 'चौकीदार' कहा तो वहां बैठे कुछ युवाओं ने कहा कि 'चोर' है। ये नारा कांग्रेस का नहीं देश के युवाओं का है। सब जगह यही नारा चल रहा है। जहां भी चले जाओं लोग एक ही बात कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने खुद ही कहा था कि मैं चौकीदार बनना चाहता हूं। कहते थे मेरा सीना 56 इंच का है। आपने कभी किसी गरीब के घर चौकीदार देखा, अनिल अंबानी के घर के बाहर चौकीदार होते हैं, उसमें नरेंद्र मोदी भी शामिल है। भिंड के युवा आर्मी में जाते हैं, सीआरपीएफ, एयर फोर्स में भिंड के युवा देश की सुरक्षा में लगे हैं। मोदी जी ने इन्हीं युवाओं का पैसा लेकर अनिल अंबानी को दे दिया। उन्होंने भिंड के युवाओं के साथ धोखा किया।

राहुल बोले- 2 करोड़ युवाओं को रोजगार मिलना था, लेकिन चौकीदार ने भिंड के युवाओं से चोरी की है। राफेल केवल फाइटर प्लेन नहीं वो पूरा वेपन सिस्टम है। उन्होंने इसके जरिए मिलने वाला रोजगार आपसे छीना और उसका कांट्रेक्ट अनिल अंबानी को दे दिया। मोदी जी मुझसे आंख से आंख नहीं मिला सकते।

राहुल बोले- देश के रक्षा मंत्री कुछ भी बताने से मना करती हैं। वायु सेना के अधिकारियों ने कहा कि मोदी समानांतर निगोशिएशन करते हैं। चौकीदार जी आप देश को समझाएं कि आपने चोरी क्यों कि और आपने जब ये चोरी तो कौन सी भावना थी।

मोदी जी, न्याय से कोई नहीं बच सकता। पांच साल मोदी ने किसानों के साथ, युवाओं के साथ अन्याय किया। उन्होंने 5 लाख 55 हजार करोड़ का कर्जा उद्योगपतियों का माफ कर दिया। नरेंद्र मोदी अन्याय किया, कांग्रेस न्याय करेगी। कांग्रेस ने मन बनाया है कि हम गरीबों के अकाउंट में, युवाओं के बैंक अकाउंट में, शहीदों के परिवार के अकाउंट में सीधा पैसा डालना चाहते हैं। यह सुनकर मोदी हिल गए। मैंने पूछा- चिदंबरम जी बताएं कि अनिल अंबानी के अकाउंट में पैसा किसने डाला।

उद्योगपतियों का पैसा कहां से माफ किया गया। क्या देश में गरीबी मिटाने के लिए पैसा दिया जा सकता है। चिदंबरम जी ने कागज पर पैन से नंबर लिखे। मैंने कहा ये क्या है, वे बोले 72 हजार रुपए हैं जो 25 करोड़ लोगों को 1 साल में दे सकते हैं। गरीबी मिटने तक ऐसा हो सकता है। मैं चौंक गया, मैने पूछा ये कि पैसा कहां था, तो चिदंबरम ने बताया कि यह पैसा डिफाल्टर उद्योगपतियों को दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि हमारी न्याय योजना से 25 करोड़ लोगों के हालात सुधरेंगे। फैक्ट्रियां शुरू होंगी, रोजगार मिलेगा। हिंदुस्तान की अर्थ व्यवस्था इस योजना से जंप स्टार्ट करेगी। न्याय योजना से जीएसटी से हुआ नुकसान खत्म हो जाएगा। यह हमारी सोच है, यह सोच राहुल गांधी या कांग्रेस ने नहीं सोचा, यह हिंदुस्तान के किसान और मजदूर ने हमें बताया कि हमारा पैसा मोदी ले गया। इसे वापस लाइए, यह सुनकर इस योजना का जन्म हुआ।

हम किसानों के पास गए, किसान ने हमसे पूछा- नीरव मोदी, मेहुल का नाम पढ़ा कि ये लोग लोन लेकर विदेश में कैसे हैं। जबकि किसान लोन नहीं चुकाता तो जेल में डाल देते हैं, हमारे साथ ऐसा क्यों? कांग्रेस ने घोषणा पत्र में किसान की इस सोच के आधार पर एक लाइन डाल दी, कि किसी भी किसान को कर्जा न लौटाने पर जेल में नहीं डाला जा सकेगा। अभी 22 लाख सरकार योजना खाली हैं, एक साल में यह नौकरियां आपके हवाले करेंगे। राहुल ने दावा किया कि नरेंद्र मोदी इस बार नहीं आ रहे हैं, यह शो फ्लॉप हो चुका है। आप उनका चेहरा देख लीजिए, वे उदास दिखते हैं, वे चुनाव हार रहे हैं।

कमलनाथ बोले- चुनाव के बाद बाकी किसानों का कर्जा भी माफ होगा

सीएम कमलनाथ ने कहा कि आज के नौजवान की सोच अलग है। आज का नौजवान इंटरनेट से जुड़ा है, वह कोई ठेका, कमिशन नहीं चाहता। वह व्यवसाय का मौका और काम चाहता है। पिछले 15 सालों में प्रदेश के नौजवानों के साथ धोखा हुआ है। मोदी जी ने हमारे युवाओं के साथ खिलवाड़ किया, याद है मोदी जी के नारे, कितने बड़े-बड़े पोस्टर लगते थे, डिजिटल इंडिया, मेक इन इंडिया। 125 दिन पहले कांग्रेस की सरकार 15 साल बाद मध्यप्रदेश में बनी। इसके पहले किसानों की आत्महत्या में प्रदेश नंबर वन था, बेरोजगारी में नंबर वन, महिला अपराध में नंबर वन था। हमने शुरुआत की और किसानों का कर्जा माफ किया, अब तक 21 लाख किसानों का कर्जा माफ हुआ है। चुनाव खत्म होने के बाद बाकियों का कर्जा भी माफ किया जाएगा। शिवराज सिंह चिल्ला रहे हैं, कर्जा माफ नहीं हुआ, यह सब झूठ है। उन्होंने किसानों पर गोलियां चलवाई थीं। हमने जो कहा था वो किया।

12 मई को है यहां चुनाव

लोकसभा चुनाव के छठवें चरण में यहां 12 मई को मतदान होना है। राहुल इसके बाद मुरैना और फिर ग्वालियर में भी चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। लोकसभा चुनाव के पांच चरण गुजरने के बाद कांग्रेस का पूरा फोकस अब भिंड-चंबल क्षेत्र की सीटों पर है।