भिंड। नईदुनिया न्यूज

गोरमी कस्बे के कल्यानपुर रोड रोड पर नशे की हालत में रेत के डंपर ने रोड किनारे लगे बिजली के खंभों को चपेट में लेकर तोड़ दिए। इससे कल्याणपुरा रोड पर खड़े करीब 15 खंभे टूट गए तो कुछ पूरी तरह से झुक गए। इससे गोरमी कस्बे में 2 घंटे तक पूरी तरह ब्लेक आउट रहा। हालांकि रात 1 बजे कुछ हिस्से में सप्लाई चालू हो गई थी। बावजूद कल्याणपुरा रोड सहित करीब 15 गांवों में शुक्रवार शाम 4 बजे तक बिजली नहीं आई। इससे करीब इससे करीब 40 हजार की आबादी गर्मी से बेहाल रही।

यह है पूरी घटना :

कल्याणपुरा रोड पर बिल्डिंग मेटेरियल सप्लाई की दुकान है। गुरुवार रात करीब 11 बजे एक डंपर दुकान पर रेत डालने के लिए आया। ड्राइवर ने डंपर की पीछे की बॉडी को लिफ्ट कर रेत खाली कर दिया। बताया जाता है कि ड्राइवर कुछ नशा किए हुए था। इसलिए बॉडी नीचे लिफ्ट कर उसके लीवर को लॉक करना भूल गया। बताया जाता है कि डंपर चलने के दौरान लिफ्ट में एयर बनने से पीछे का हिस्सा फिर उठ गया। करीब 200 मीटर चलने के बाद डंपर के पीछे के हिस्से में उठी बॉडी में बिजली की केबल उलझ गई।

एक के बाद एक 15 खंभे तोड़े :

नशे में धुत्त ड्राइवर को पता हीं नहीं चला कि डंपर के पीछे के हिस्से में केबल उलझ गई है। देखते ही देखते केबल खींचने से सड़क किनारे खड़े 15 खंभे टूट गए। वहीं कुछ खंभे नीचे झुक गए। बिजली कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक डंपर की चपेट में आने से सुकांड फीडर के 5 खंभे टूट गए। जबकि एलटी लाइन के 10 खंभे टूट गए। घटना के बाद ड्राइवर डंपर लेकर भाग गया।

यहां की बिजली सप्लाई गुल हुई :

डंपर की चपेट में आने से हाईटेंशन के खंभे और एलटी लाइन के खंभे टूटने के बाद रात करीब 11 बजे पूरी कस्बे की बिजली गुल हो गई। रहवासियों की शिकायत पर बिजली कंपनी की मेंटनेंस टीम सक्रिय हुई। इसके बाद रात करीब 2 बजे आधे नगर की सप्लाई चालू हो गई। बावजूद वार्ड 14 कल्याणपुरा रोड, वार्ड 11, कल्याणपुरा गांव, सिलौली, सुकांड गांव सहित इससे जुड़े 15 मजरा, गुलियापुरा, खिल्ली, परौसा, आरौली, बहेरा, जीवारामका पुरा, गोरेलाल का पुरा, पटेलका पुरा, खुड़ी, खोड़, बरका पुरा, चौधरी का पुरा सहित अन्य गांवों की बिजली पूरी तरह से बंद हो गई। इससे करीब 25 हजार लोग गर्मी से बेहाल रहे। हालांकि रात में बिजली कंपनी की टीम मौके पर पहुंची और मेंटनेंस का काम शुरू कर दिया।

रातभर मच्छरों ने काटे, सुबह नहीं आए नल :

कल्याणपुरा रोड निवासी सुरेन्द्रसिंह ने बताया कि रात में खंभे टूटने के कारण गर्मी ने परेशान कर दिया। इसके बाद लोग परिवार के साथ छत पर सोने के लिए गए तो वहां मच्छरों के काटने के कारण ठीक से सो नहीं सके। जबकि सुबह बिजली नहीं आने के कारण नल नहीं आने के कारण पानी के लिए परेशान हुए।

घर के ऊपर गिरा खंभा :

कल्याणपुरा निवासी महेश सोनी ने बताया कि वह रात में परिवार सहित अंदर कमरे में सो रहे थे। रात में तेज धमाका हुआ। बाहर आकर देखा तो बिजली का खंभा घर के बाहर वाले हिस्से पर टिका हुआ था। साथ ही लाइन में छत पर थी। श्री सोनी ने बताया कि उन्होंने बिजली कंपनी के अधिकारियों को सूचना दी। श्री सोनी का कहना है कि अगर यही घटना दिन के समय हुइ होती तो बड़ी जनहानि हो जाती।

वर्जन :

रात में एक डंपर करीब 15 बिजली के खंभे तोड़ दिए हैं। हमने रात से ही मेंटेनेंस का काम शुरू कर दिया था। शाम तक पूरी तरह से बिजली बहाल हो जाएगी। वहीं डंपर ड्राइवर के खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज करवाएंगे।

गोपालधर दुबे, जेई बिजली कंपनी भिंड

वर्जन :

बिजली कंपनी की ओर से अभी तक हमारे यहां कोई आवेदन नहीं आया है। शिकायत आती है तो हम जरूर कार्रवाई करेंगे।

राकेशचंद्र शर्मा, टीआई गोरमी