- खितौली में 5 लाख की लागत से नलजल योजना का शुभारंभ

- 2 लाख की लागत से निर्मित होने वाले शहीद गेट का भूमिपूजन

फोटो सहित क्रमांक 7

भिंड। नईदुनिया न्यूज

प्रदेश सरकार शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में हर संभव प्रयास कर रही है। गोहद विधानसभा क्षेत्र के ग्राम खितौली में पेयजल की सुविधा के लिए नलजल योजना प्रारंभ की गई है। साथ ही विधानसभा क्षेत्र में पेयजल सुविधा विकसित करने की दिशा में निरंतर प्रयास जारी है। यह बात शुक्रवार को 5राज्यमंत्री लालसिंह आर्य ने 5 लाख की लागत से बनी नल-जल योजना का शुभारंभ और शहीद विशंभर सिंह के नाम से बनने वाले गेट का भूमिपूजन करते हुए कही।

इस अवसर पर पार्टी पदाधिकारी कमल सिंह, सज्जान सिंह, फरेन्द्र सिंह, हरनारायण कुशवाह, रविन्द्र तोमर, मुन्ना तोमर, धर्मेन्द्र गुर्जर, रामबाबू उपाध्याय, संजय झा, नाथूसिंह तोमर, जगदीश सिंह कुशवाह, देवेन्द्र, रघुराज सिंह, सब्बीर, केशव सिंह, अखलेश, इस्लाम खान और पंचायतो के पदाधिकारी, विभागीय अधिकारी एवं ग्रामीणजन मौजूद रहे।

सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री श्री आर्य ने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रो के विकास की दिशा में प्रदेश सरकार कटिबद्व होकर कार्य कर रही है। साथ ही गर्मियों के दौरान पीने के पानी की दिशा में निरंतर कदम उठाए जा रहे है। उन्होंने कहा कि ग्राम खितौली के नागरिकों को पीने के पानी की दिशा में नलजल योजना काफी उपयोगी सिद्व होगी।

स्मारक के जरिए लोग शहीद को याद रखेंगेः

श्री आर्य ने कहा कि ग्राम खितौली में शहीद गेट बनाया जाएगा। शहीद विशंभर सिंह के नाम से बनने वाला यह गेट यादगार के जरिए शहीदों का हमेशा याद किया जाएगा। साथ ही शहीद के नाम को हमेशा याद करने की दिशा में गेट याद दिलाएगा।

खितौली में 3 करोड़ की लागत से विकास कार्य होंगेः

राज्यमंत्री श्री आर्य ने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में विकास को गति देने के निरंतर प्रयास किए जा रहे है। ग्राम विकास की अवधारणा को मूर्तरूप देने की कार्रवाई ग्राम पंचायतों के माध्यम से की की जा रही है। उन्होंने कहा कि खितौली में 3 करोड रूपए की लागत से विकास कार्य कराए गए हैं। साथ ही 16 प्रधानमंत्री आवास, 250 शौचालय, 3.53 लाख रूपए की लागत से खेल मैदान, 3 लाख रुपए की लागत से मुक्ति धाम के अलावा 7 सड़क के अलावा सीसी सड़कें बनाने की स्वीकृति दी गई है। इसी प्रकार 10 लाख रूपए की लागत से आंबेडकर भवन भग्गूपुरा में बनाया जाएगा। यह मंगल भवन समाज के कार्यक्रमों को आयोजित करने में मदद करेगा।