भिंड। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में जमीन विवाद और रंजिश के चलते पिछले 2 दशक में कई लोगों की जान जा चुकी है। विवाद में हत्या और हत्या प्रयास मामले में कई लोग सजा काट चुके हैं और कई वर्तमान में जेल में रहकर सजा काट चुके हैं। पुश्तैनी लड़ाई में परिवार बर्बाद हो चुके हैं। पुलिस ने सालों से चल आ रहे जिलेभर में 36 केस चि-ति किए हैं। इन केसों में आरोपित और फरियादी की पेशी पर आने-जाने के दौरान पुलिस निगाह रखेगी। जिससे फिर से कोई बड़ी नहीं हो जाए।

मालूम हो, कि 30 जुलाई को पावई विरगवां गांव निवासी रामशरण (45) पुत्र तेजराम शर्मा हत्या के प्रयास के केस में पेशी पर जिला न्यायालय आए थे। साथ में चचेरे भाई हरि किशन (42) पुत्र माता प्रसाद शर्मा, बेटा अनिल (25) और भान्जा राधे उर्फ फोसू (27) पुत्र जयनारायण शर्मा निवासी अटेर रोड भिंड भी थे। पेशी के बाद शाम 4ः30 बजे रामशरण और हरिकिशन शर्मा ऑटो में बैठकर, अनिल और राधे बाइक से घर के लिए रवाना हुए। भारौली मोड़ बायपास पर महाराजा नर्सरी के सामने आरोपितों ने माऊजर बंदूक से बाइक सवार अनिल और राधे की गोली मारकर हत्या कर दी। आरोपितों ने ऑटो रुकवाकर अनिल के पिता रामशरण श्मर्ाा और चाचा हरिकिशन को गोली मार दी। जिससे दोनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

पुलिस ने किए 36 प्रकरण चि-ति

एएसपी डॉ गुरकरन सिंह के मुताबिक 60 जुलाई की घटना के बाद पुलिस ने जिलेभर के थानों का रिकार्ड खंगलवाया। इसमें 36 ऐसे केस चि-ति किए हैं। जिसमें 15 से 20 सालों से जमीन विवाद और पुरानी रंजिश के चलते विवाद चला आ रहा है। कई केसों में तो एक-एक परिवार के 4 से 5 लोगों की जानें जा चुकी हैं।

फिर मर्डर नहीं हो अब यह करेगी पुलिस

एएसपी डॉ सिंह का कहना है कि पुराने ऐसे केस जिसमें हत्या या अन्य घटना की आशंका है। ऐसे मामलों को हमने चि-ति कर लिया है। ऐसे मामलों में पुलिस न्यायालय से पता करेगी कि किस केस में किस पार्टी की कोर्ट पेशी है, या फिर यह लोग घर से पेशी पर आने वाले हैं। पुलिस पेशी के आने-जाने के दौरान फरियादी और आरोपितों की निगरानी करेगी। साथ ही ट्रेक करेंगे के वर्तमान में आरोपित कहां रहकर क्या काम कर रहा है?

कराएगी बाउंड ओवर :

एएसपी का कहना है कि संबंधित मामलों में फरियादी और आरोपितों को नोटिस देकर थाने बुलाया जाएगा। यहां उन्हें भविष्य में विवाद नहीं करने की समझाइस देकर बाउंड दोनों पक्षों को बाउंड ओवर किया जाएगा। इसके अलावा पेशी पर आने-जाने के दौरान भी उनकी निगरानी की जाएगी। इसके लिए सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिए जा चुके हैं।

शातिर बदमाशों की वीसी से होगी पेशी

एसपी रूडोल्फ अल्वारेस का कहना है कि उन्होंने भिंड जिला जेल और ग्वालियर सेंट्रल जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे अपराधियों को भी चि-ति किया है। शातिर अपराधियों को पेशी पर नहीं लाते हुए उनकी वीडियो कॉफे्रंस कराई जाएगी। जिससे पेशी पर आने-जाने के दौरान अपराधी किसी भी प्रकार की बदमाशी नहीं कर सकें।

पुलिस ने यह मामले किए चि-ति :

केस 1 :

पावई के बिरगवा गांव में जमीन विवाद को लेकर तेजराम शर्मा और मुरारी शर्मा में 1999 से दुश्मनी चली आ रही है। 16 अक्टूबर 1999 में मुरारी शर्मा पक्ष ने तेजराम शर्मा और माता प्रसाद शर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वर्ष 2013 में हरेंद्र शर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। 20 नवंबर 2017 को तेजराम पक्ष ने अटेर रोड पर विकास (28) पुत्र मुरारी तिवारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मुरारी शर्मा पक्ष ने 30 जुलाई को अनिल और राधे उर्फ फोसू की हत्या कर दी।

केस 2

गोहद चौराहा थाना अंतर्गत छीमका गांव में चुनावी रंजिश के चलते कल्लू उर्फ बृजमोहन पुत्र महेश सिंह तोमर और धर्मेन्द सिंह पुत्र पदमसिंह परमार निवासी छीमका में विवाद चल रहा है। दोनों पक्षों में 25 मार्च 2013 और 15 जुलाई 2014 और 14 मई 2005 में 4 लोगों की हत्या हो चुकी हैं।

केस 3

बरोही के डोंगपुरा गांव में 27 मार्च 2008 को चिमन सिंह पुत्र सूबेसिंह भदौरिया और जयसिंह पुत्र पूरनसिंह भदौरिया के बीच जमीन विवाद को लेकर पहली बार विवाद हुआ था। इसमें दोनों पक्षों की रिपोर्ट पर हत्या प्रयास सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज हुआ था। 16 मई 2013 जयसिंह पक्ष ने चिम्मनसिंह पक्ष की एक युवक की हत्या कर दी। 27 जुलाई 2008 में चिम्मनसिंह पक्ष की फिर से हत्या हुई।

इनका कहना है

जिले में जमीन और रंजिश व चुनावी रंजिश के चलते हुए विवाद और मर्डर के 36 मामले चि-ति किए हैं। इन केसों में हम लगातार मॉनीटनिंग करवा रहे हैं। इसमें पेशी पर आने वाले लोगों पर हम निगाह रखेंगे। साथ ही जेल में बंद अपराधियों की पेशी वीडियो क्रॉफिंस से करवाने के लिए पत्र लख रहे हैं।

रूडोल्फ अल्वारेस, एसपी भिंड