भोपाल। राजधानी की पुरानी जेल स्थित स्ट्रांग रूम को पीठासीन की डायरी से मिलान कर सोमवार दोपहर दो बजे सील कर दिया गया। अब स्ट्रांग रूम 23 मई को खुलेगा। ईवीएम कक्ष की निगरानी के लिए 29 सीसीटीवी लगाए गए हैं। जिनका कनेक्शन बाहर लगी एलसीडी से किया गया है। सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ की टुकड़ी लगाई गई है। जो राउंड द क्लॉक में थ्री लेयर सुरक्षा देगी। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने जिन अधिकारियों, कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है वे सुबह 8 से शाम 4 बजे, शाम चार से रात 12 और रात 12 से सुबह आठ बजे तक राउंडवार ड्यूटी करेंगे।

राजनैतिक दलों के एजेंट कर सकेंगे निगरानी

स्ट्रांग रूम के बाहर लगी एलईडी पर डिस्प्ले हो रहे सीसीटीवी कैमरे के वीडियो पर सतत निगरानी रखने के लिए राजनैतिक कार्यकर्ता तीन पॉलियों में ड्यूटी करेंगे। कुछ कार्यकर्ताओं ने बैठकर एलईडी के माध्यम से स्ट्रॉग रूम में रखी ईवीएम की निगरानी की। इस बार एजेंटों के बैठने की व्यवस्था स्ट्रांग रूम के सामने से साइड में की गई है।

देर रात एक बजे पहुंची अंतिम पोलिंग पार्टी

स्ट्रांग रूम में ईवीएम जमा करने के लिए अंतिम पोलिंग पार्टी रात एक बजे पहुंची। गोविंदपुरा विधानसभा क्षेत्र 20 नंबर बूथ में देर रात तक मतदान चलने के कारण देरी हुई। दूसरी तरफ चुनाव सामाग्री जमा करने को लेकर अफरा-तफरी का माहौल रहा। ना कोई सुनने वाला था और ना ही कोई मॉनीटरिंग दिखाई दी। लिहाजा कर्मचारियों को सामाग्री जमा करने में काफी मशक्कत और परेशानियों का सामना करना पड़ा।

यह भी दिए निर्देश

-ड्यूटी पर तैनात अधिकारी स्ट्रॉग रूम की सुरक्षा के मद्देनजर सीआरपीएफ द्वारा लॉगबुक में अधिकृत व्यक्तियों के विजिट की एंट्री अनिवार्य कराएंगे।

-विजिट की फोटोग्राफी की जाए तथा विद्युत सप्लाई अनवरत चालू रहे। इसका विशेष ध्यान रखें।

-मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, भारत निर्वाचन आयोग के उप निर्वाचन आयुक्त, जिला निर्वाचन अधिकारी, पुलिस अधीक्षक एवं रिटर्निंग आफिसर्स के मोबाइल नंबर सभी उम्मीदवारों को उपलब्ध कराए जाएं।

-पुरानी जेल के एंट्री प्वाइंट पर वेबकैम एवं लैपटॉप उपलब्ध रखा जाए, ताकि हर आने जाने वाले की निगरानी हो।

-ईवीएम जहां रखी हैं, वहां तक वाहन का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया।

-रिटर्निंग आफिसर्स द्वारा स्ट्रांग रूम कैम्पस की केवल आंतरिक परिधि तक प्रतिदिन सुबह एवं सायं विजिट की जाए। लॉगबुक एवं वीडियोग्राफी चैक कर प्रतिदिन की रिपोर्ट जिला निर्वाचन कार्यालय में जमा करें।