भोपाल। रुपयों के लिए सिलसिले वार 33 निर्दोष लोगों का बेरहमी से कत्ल। साथ ही लाखों का माल ठिकाने लगाने के आरोपित आदेश खांबरा से सघन पूछताछ जारी है। लेकिन अभी तक की जांच में पुलिस यह पता लगाने में नाकाम रही है, कि आखिर लूट के माल से मिले रुपए खांबरा ने कहां खर्च किए। आदेश अभी भी माली हालत खस्ता होना बता रहा है। उधर रिमांड अवधि पूरी होने पर पुलिस आदेश और उसके साथी तुकाराम को शुक्रवार को अदालत में पेश करेगी।

एसपी साउथ राहुल कुमार लोढ़ा ने बताया कि अभी तक आदेश ने अपने साथियों के साथ मिलकर कुल 33 हत्या करने की बात कबूल की है। लूट से मिली रकम के बारे में आदेश ने पुलिस को बताया कि लूटा गया माल और ट्रक बिकने पर मिलने वाली रकम गिरोह में बांट लेते थे। इस तरह उसके पास एक केस में 20-25 हजार रुपए ही आते थे। जिन मामलों में वह पकड़ा गया था, उनके केस लड़ने में भी काफी पैसा खर्च हो गया। साथ ही काफी रुपए उसने खाने-पीने में उड़ा दिए।

दूसरे राज्यों से आ रहे फोन

आदेश के सीरियल किलर के रूप में सुर्खियों में आने के बाद दूसरे राज्य की पुलिस भी भोपाल पुलिस से उनके क्षेत्र में हुई इस तरह की वारदातों को साझा कर रही है। हालांकि आदेश ने 33 कत्ल के बाद अन्य किसी वारदात के बारे में अपना मुंह नहीं खोला है।

दूसरे राज्य में बिका माल

एसपी ने बताया कि आदेश से पूछताछ में पता चला कि लूटा गया ट्रक और माल दूसरे राज्यों में बेचा गया है। खरीदारों को पुलिस ने चिन्हित कर लिया है। लेकिन आदेश के पकड़े जाने की भनक लगने के बाद कई आरोपित भूमिगत हो गए हैं। इनमें से कुछ रसूखदार लोग हैं, तो कुछ कबाड़े के कारोबार से जुड़े हैं।

साक्ष्य जुटाने में जुटे

आदेश खांबरा ने जो जुर्म कबूल किए हैं, उनमें 2010 तक के अपराध शामिल हैं। उनके साक्ष्य जुटाना पुलिस के लिए फिलहाल बड़ी चुनौती बना हुआ है। इसके लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें दिन-रात जुटी हुई हैं।

मकान की तस्वीरें खींची

आदेश से लगातार पूछताछ कर रही पुलिस उसकी संपत्ति का ब्यौरा भी जुटाने में भी लगी है। इसी क्रम में पुलिस ने मंडीदीप स्थित आदेश के मकान की तस्वीर भी ली हैं। बताया जाता है कि यह उसका पुश्तैनी मकान है। इसमें कुछ माह पहले नवीनीकरण का काम हुआ है।

पुलिस फिर रिमांड मांगेगी

एसपी ने बताया कि आदेश और उसके साथी तुकाराम को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। इस दौरान कोर्ट से आदेश खांबरा को रिमांड पर देने का आग्रह किया जाएगा। एसपी के मुताबिक लूट का माल खरीदने वाले के बारे में जल्द ही बड़ा खुलासा होने की उम्मीद है। इसके लिए पुलिस की टीम अलग-अलग राज्यों में लगी हुई हैं।