भोपाल। विधानसभा चुनाव की आचार संहिता प्रभावी होने के बाद मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय ने नियमित निगरानी शुरू कर दी है।

अब तक 63 हजार 510 हथियार (शस्त्र) थानों में जमा कराए जा चुके हैं। 874 वाहनों के दुरुपयोग के मामले दर्ज किए गए हैं। संपत्ति विरुपण के तीन लाख 44 हजार प्रकरण बनाए गए हैं। इसमें ज्यादातर सरकारी संपत्ति के दुरुपयोग से जुड़े हैं।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि छह अक्टूबर को आदर्श आचार संहिता प्रभावी होने के बाद कानून व्यवस्था की नियमित निगरानी शुरू हो गई है। चार दिन में 321 अवैध हथियार जब्त किए हैं तो 3 हजार 874 गैर जमानती वारंट तामील कराए गए हैं।

8 हजार 715 लोगों के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई है। दो लाख 76 हजार प्रकरण सरकारी संपत्ति का दुरुपयोग करने पर बनाए गए हैं तो लगभग 58 हजार मामले निजी संपत्ति का बिना अनुमति उपयोग करने पर बनाए गए हैं।