भोपाल, नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। भारतीय जनता पार्टी ने साफ कर दिया है कि विधानसभा चुनाव के पहले किसी भी कार्यकर्ता ने माहौल बिगाड़ने या अनुशासनहीनता की तो उसे बर्खास्त कर दिया जाएगा। भोपाल में पार्षद मनफूल मीणा के पति श्याम मीणा द्वारा हुजूर विधानसभा क्षेत्र के विधायक रामेश्वर शर्मा के साथ की गई अभद्रता की घटना के बाद पार्टी ने अलर्ट जारी किया है। पार्टी ने सभी कार्यकर्ताओं को संयमित व्यवहार रखने की हिदायद भी दी है। सूत्रों के मुताबिक पार्टी कार्यकर्ताओं के सार्वजनिक मंच पर होने वाले विवादों पर भाजपा संगठन अब गंभीर हो गया है।

भोपाल में रविवार को पार्षद पति द्वारा जिस तरह से बदतमीजी की गई, उसकी पुनरावृत्ति न हो, इसके लिए पार्टी ने अब एहतियाती कदम उठाए हैं। पार्टी ने संगठन से जुड़े सभी नेताओं को निर्देश दिए हैं कि वे कार्यकर्ताओं को संयमित व्यवहार करने के लिए कहें। उन्हें बताएं कि इस तरह की घटनाओं के वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होते हैं और पार्टी की छवि को नुकसान पहुंचाते हैं। कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि वे सार्वजनिक स्थानों में अनुशासन का विशेष ख्याल रखें। माहौल खराब करने की कोशिश की तो पार्टी उन्हें बाहर का रास्ता दिखा देगी।

पहले भी हुई हैं सार्वजनिक मंच पर ऐसी घटनाएं

इससे पहले भी प्रदेश में ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं। एकात्म यात्रा के दौरान सांसद मनोहर ऊंटवाल के साथ विधायक गोपाल परमार ने अभद्रता की थी। तब दोनों ने सार्वजनिक रूप से माफी मांग ली थी, इसलिए किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई। बालाघाट सांसद बोधसिंह भगत और कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन के बीच भी सार्वजनिक मंच पर हुआ विवाद गाली-गलौच तक पहुंच गया था। इस मामले में तो सांसद ने मंत्री पर बीज खरीदी में गड़बड़ी किए जाने का भी आरोप लगाया था। सांसद ने इस विवाद की हाईकमान से शिकायत भी की थी।

सख्ती

भाजपा परिवार भाव से काम करती है लेकिन अनुशासन के लिए भी हमारी पूरी प्रतिबद्धता है। पार्टी का अनुशासन तोड़ने या छवि खराब करने की कोई भी कोशिश करता है तो उससे सख्ती से निपटा जाएगा। - डॉ. दीपक विजयवर्गीय, मुख्य प्रवक्ता भाजपा