भोपाल। लोकतंत्र के महायज्ञ में आहुति देने के लिए लोगों में दिनों दिन उत्साह बढ़ता जा रहा है। 'नवदुनिया' की मुहिम चलो वोट करें' से प्रेरणा लेकर 'मतदान दिवस' 12 मई को शादी के बंधन में बंधने जा रहे युवाओं ने अनूठा संकल्प लिया है। इसके तहत परिणय सूत्र में बंधने वाले नवदंपती अपने-अपने मतदान केंद्र पर वोट डालने जरूर जाएंगे। इसके अलवा शादी समरोह में उसी व्यक्ति का उपहार स्वीकार करेंगे, जिसकी अंगुली पर मतदान करने की स्याही का प्रमाण होगा।

राजधानी में 12 मई को कई स्थानों पर शादियां होना है। इसी क्रम में पिपलानी क्षेत्र के खजूरीकला गांव में भी 12 मई को आधा दर्जन से अधिक शादियां हैं। इस गांव से चार बारात जाएंगी, जबकि दो बारात लेकर दूल्हे गांव में आएंगे। यहां के रहवासी कुबेरसिंह राजपूत बताते हैं कि गांव के लोग मतदान के प्रति काफी जागरूक हैं। शादियों के कारण वोट डालने में चूक नहीं हो जाए। इस बात का पूरी तरह ध्यान रखा गया है। साथ ही फैसला लिया है कि शादी समारोह के जरिए मतदान को प्रोत्साहित करने की मिसाल भी कायम की जाए। 12 को परिणय सूत्र में बंधने जा रहे सुनील ठाकुर ने बताया कि उनकी बारात सीहोर जिले के अहमदपुर जाएगी। वे स्वयं उस दिन मतदान करेंगे। साथ ही उनकी होने वाली पत्नी अहमदपुर स्थित बूथ पर वोट डालेगी। उन्होंने तय किया है कि शादी में उपहार सिर्फ उसी का स्वीकार करेंगे, जिसने वोट डाला है।

इसी गांव के राजेंद्रसिंह भी परिवार के साथ मतदान करने के बाद दूल्हा बनकर बारात लेकर पलासी (विदिशा) के लिए रवाना होंगे। यहां के सोनू सिंह 12 मई को बारात लेकर बैरसिया जाएंगे। सोनू के मुताबिक उन्होंने तय किया है कि वह उपहार उसी का स्वीकार करेंगे, जिसने वोट किया है। उनके इस फैसले का उनके ससुराल पक्ष ने भी स्वागत किया है। इसी गांव में दो परिवारों में 12 मई को बारात आने वाली हैं। सिया चौहान के घर राहुल कुमार बारात लेकर आएंगे। सिया के मुताबिक उस दिन पहला काम वोट डालने का करेगीं। उपहार भी उसी से स्वीकार किया जाएगा जिसने वोट किया है। गांव के पं.ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि युवाओं में मतदान को लेकर काफी उत्साह है। गांव के लोगों का प्रयास है कि शत प्रतिशत मतदान हो।