भोपाल (स्टेट ब्यूरो)। सत्ता परिवर्तन के साथ ही लोक निर्माण विभाग में बदलाव के संकेत हैं। 1985 बैच के प्रमुख अभियंता स्तर के इंजीनियर अनिल चंसोरिया ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति मांग ली है। विभाग को उनका आवेदन गुरुवार देर शाम मिला। वे स्मार्ट सिटी में प्रतिनियुक्ति पर पदस्थ थे। वहीं, विभागीय मंत्री सज्जन वर्मा का विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी अधीक्षण यंत्री संजय खांडे को बनाया गया है। माना जा रहा है कि विभाग में जल्द ही बड़े स्तर पर बदलाव होंगे। प्रमुख अभियंता अखिलेश अग्रवाल को भी बदले जाने की सुगबुगाहट है। इसके मद्देनजर दावेदारों ने इसके लिए प्रयास भी शुरू कर दिए हैं।

लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विभाग में प्रमुख अभियंता वेतनमान के पांच इंजीनियर हैं। इनमें से एक अनिल चंसोरिया ने स्वेच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन दिया है। इस पर फैसला विभागीय मंत्री सज्जन वर्मा लेंगे। वैसे चंसोरिया को सेवानिवृत्त होने में अभी डेढ़ साल से ज्यादा समय है। वे जुलाई 2020 में 62 वर्ष के होंगे। प्रदेश में सेवानिवृत्त की आयु 60 से बढ़ाकर 62 की जा चुकी है। उन्हें शिवराज सरकार ने आचार संहिता लगने से कुछ समय पहले सड़क विकास निगम से हटा दिया था। वे निगम के प्रमुख अभियंता थे। उधर, विभागीय मंत्री ने अधीक्षण यंत्री संजय खांडे को अपना ओएसडी बनाया है। विभाग ने इसके आदेश जारी कर दिए हैं।

विभाग में बदलाव की सुगबुगाहट

सूत्रों का कहना है कि विभाग में बड़े स्तर पर बदलाव की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। माना जा रहा है कि सबसे लंबे समय तक प्रमुख अभियंता रहने का रिकॉर्ड बना चुके अखिलेश अग्रवाल को नई जिम्मेदारी दी जा सकती है। इस संभावना के मद्देनजर दावेदार भी सक्रिय हो गए हैं। मुख्य सतर्कता परीक्षक सीपी अग्रवाल और सचिव लोक निर्माण आरके मेहरा के नाम इस पद के लिए प्रमुखता से लिए जा रहे हैं। अग्रवाल की पैरवी कमलनाथ सरकार के एक मंत्री और किसानों के संगठन से जुड़े वरिष्ठ पदाधिकारी ने की है। अखिलेश अग्रवाल के बाद मौजूद प्रमुख अभियंताओं में सीपी अग्रवाल वरिष्ठ हैं। इसके बाद आरके मेहरा और पीसी बारस्कर का नंबर आता है। एक अन्य प्रमुख अभियंता वेतनमान के इंजीनियर विजय सिंह वर्मा सेवानिवृत्त हो चुके हैं। वे इस समय संविदा पर परियोजना क्रियान्वयन इकाई के संचालक की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। इसके अलावा मुख्य अभियंता, अधीक्षण यंत्री और कार्यपालन यंत्री स्तर पर भी बदलाव किए जा सकते हैं।