भोपाल, नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। तीन दिन से भोपाल में मौजूद समन्वय समिति का दौरा मंगलवार को 'संगत में पंगत" से कार्यक्रम समाप्त हो गया। समिति के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मंच पर तीन घंटे तक खड़े रहकर हरेक नेता की शिकवा-शिकायत व दावेदारों के दावों को सुना। मंच से दिग्विजय सिंह ने कहा कि समिति टिकट बांटने नहीं निकली है, लेकिन उनके कान में दावेदार अपने समर्थकों के माध्यम से दावा पहुंचाते देखे गए। हालांकि समिति भोपाल में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी और विधायक आरिफ अकील के बीच दूरी नहीं पाट सकी है।

मंगलवार को कार्यक्रम के दौरान मंच पर दोनों नेता साथ तो बैठे लेकिन उनके बीच की खाई वहां भी साफ दिखाई दे गई। दिग्विजय सिंह 'संगत में पंगत" कार्यक्रम में सुबह 11 बजे मानस भवन पहुंचे थे। उन्होंने भोपाल के एक-एक नेता व कार्यकर्ता की बात को सुना। हर कोई उनके कान में अपनी बात कह रहा था। भोपाल शहर कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश मिश्रा और आनंद तारण सभी को संबोधित करते हुए उनका परिचय भी दे रहे थे। कार्यक्रम में रामेश्वर नीखरा, विभा पटेल, सुनील सूद भी मौजूद रहे।

शक्ति प्रदर्शन किया

विधानसभा चुनाव में टिकट की दावेदारी करने वाले नेता दिग्विजय सिंह के कान में अपनी बात कहने के लिए समर्थकों की भीड़ भी लेकर पहुंचे। पार्षद प्रवीण सक्सेना महिला-पुरुषों के बड़े जत्थे के साथ पहुंचे जो दिग्विजय सिंह के कान में अपने नेता को टिकट देने का कहकर आगे चलते रहे। नरेला विधानसभा के दावेदार महेंद्र सिंह चौहान व मनोज शुक्ला, हुजूर में अवनीश भार्गव व मांडवी चौहान तो भोपाल मध्य में पीसी शर्मा, विभा पटेल जैसे नेताओं ने कुछ इसी अंदाज में दिग्विजय तक अपनी बात पहुंचाई।

संबोधन के पहले पहुंचे दोनों

दरअसल, विधायक आरिफ अकील कार्यक्रम में दिग्विजय सिंह के संबोधन के कुछ देर पहले पहुंचे और मंच के सामने बैठ गए। कुछ देर बाद पूर्व मंत्री सुरेश पचौरी आए और मंच पर आगे वाली कुर्सियों पर बैठ गए। भाषण शुरू होते अकील को मंच पर बुलाया गया, यहां वे दूसरी पंक्ति में बैठ गए। हरिसिंह नरवरिया ने इशारे से आगे की पंक्ति की सीट देने का आग्रह किया तो पूर्व महापौर विभा पटेल ने उन्हें आगे बैठने को कहा, लेकिन वे नहीं बैठे। उधर, भोजन के लिए भी पचौरी आगे निकल गए। बाद में मानस भवन में मंच पर कांग्रेस कार्यकर्ता दिग्विजय सिंह के कान में दावेदारी जताते हुए। दिग्विजय, अकील को साथ लेकर उतरे।