Naidunia
    Sunday, December 17, 2017
    PreviousNext

    पिता की अंगदान की इच्छा पूरी करने बेटी ने परिवार के डेड़ सौ लोगों से लिया विरोध

    Published: Fri, 13 Oct 2017 04:04 AM (IST) | Updated: Fri, 13 Oct 2017 05:45 PM (IST)
    By: Editorial Team
    organ donation 20171013 15249 13 10 2017

    भोपाल। एक बेटी के लिए परिवार के करीब डेढ़ सौ लोगों का विरोध लेना आसान नहीं था। लेकिन, पिता की अंगदान करने की इच्छा पूरी करने के लिए उसने किसी की नहीं सुनी। जब डॉक्टर और काउंसलर्स ने बताया कि उसके पिता के अंगों से तीन लोगों को नई जिंदगी मिल सकती है तो उसने हां करने में देरी नहीं की। राजधानी के कटारा हिल्स में रहने वाले 48 साल के विष्णु कुमार के निधन के बाद पत्नी और बेटी श्रद्घा ने उनके अंग दान कर दिए।

    उनका लिवर बंसल अस्पताल, एक किडनी चिरायु और एक सिद्घांता रेडक्रास अस्पताल में तीन मरीजों को लगाई गई। श्रद्घा ने बताया कि पापा को ब्लड प्रेशर था। बीच में उन्होंने दवाएं छोड़ दी थी। इस वजह से मंगलवार को ब्रेन हैमरेज हो गया था। इलाज के लिए पहले रेडक्रास अस्पताल ले गए, तो डॉक्टरों ने कहा सब ठीक है घर ले जाओ।

    हालत बिगड़ी तो विवेकानंद स्पाइन सेंटर ले गए। बुधवार सुबह उन्हें बे्रेन डेड घोषित कर दिया गया। इसके बाद सभी टेस्ट कर गुरुवार शाम को बंसल अस्पताल ले जाकर आर्गन निकाले गए। बेटी ने बताया कि पापा ने घर वालों की मर्जी के खिलाफ शादी की थी, इसलिए परिवार के लोग पत्नी और बेटी की अंगदान की बात से सहमत नहीं थे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें