भोपाल। दिव्यांगजन परीक्षार्थियों के लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल ने पहली बार बोर्ड परीक्षा की व्यवस्था में बदलाव किया है। इसके तहत दिव्यांग परीक्षार्थी के लिए अलग से परीक्षा का समय तय किया गया है।

दिव्यांगजनों के लिए परीक्षा का समय दोपहर 1 से शाम 4 बजे तक होगा। नई व्यवस्था के तहत दिव्यांगजनों को दोपहर 12.30 बजे तक परीक्षा केंद्र पर पहुंचना होगा।

इस व्यवस्था से दिव्यांग परीक्षार्थी आसानी से राइटर के जरिये लिखवा सकेंगे। साथ ही सामान्य छात्रों को परीक्षा के समय दिक्कत भी नहीं होगी। दिव्यांगजनों के पेपर और सामान्य विद्यार्थियों के प्रश्नपत्र अलग-अलग रहेंगे ताकि पेपर आउट होने की समस्या न आए। बता दें अब तक दिव्यांगजनों के लिए सामान्य छात्रों की कक्षा में अलग बैठने की व्यवस्था थी।

विशेष परीक्षा कक्ष भी होगा

बोर्ड ने दिव्यांगजनों को परीक्षा के दौरान होने वाली परेशानी से बचाने के लिए समय के साथ-साथ विशेष कक्ष की भी व्यवस्था होगी। जिसमें चढ़ने के लिए सीढ़ी के बदले रैंप बना होगा। साथ ही बैठने की व्यवस्था भी अलग से होगी।

आधे घंटे देरी से शुरू होगी परीक्षा

सामान्य छात्रों की परीक्षा के शुरू होने का समय भी आधा घंटा बढ़ाया गया है। परीक्षा सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक होगी। परीक्षार्थी को आधे घंटे पहले केंद्र पर पहुंचना होगा।

इसके अलावा बोर्ड ने नकल पर रोक लगाने के लिए सभी केंद्राध्यक्षों को निर्देश जारी किए हैं कि परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष में जूते-मोजे पहनकर प्रवेश न दें। आदेश में कहा गया है कि यदि छात्र टोपी और जैकेट पहनकर आते हैं तो उसकी अच्छी तरीके से चेंकिंग करें। वहीं, नकल प्रकरण बनने पर एफआईआर दर्ज कराने सहित कई निर्देश भी दिए हैं।

इनका कहना है

इस बार दो-तीन नियम पहली बार बनाए गए हैं। इसमें दिव्यांगजनों के लिए अलग समय की व्यवस्था की गई है, साथ ही सामान्य छात्रों की परीक्षा भी सुबह 9 बजे से शुरू की जा रही है।

हेमंत शर्मा, डायरेक्टर, माशिमं