भोपाल। कांग्रेस के पूर्व विधायक हेमंत कटारे के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज कराकर प्रदेश की राजनीति में भूचाल लाने वाली छात्रा प्रिंशुसिंह ने प्रयागराज स्थित झूंसी में घर जहर खाकर खुदकुशी कर ली। प्रिंशु की शादी झूंसी थाने में दारोगा कालका प्रताप सिंह से हुई थी। शादी 15 मई को तय थी।

आरोप है कि गुरुवार को कालका ने अचानक और दहेज की मांग करते हुए रिश्ता तोड़ने की धमकी दी। इससे आहत होकर प्रिंशु ने होने वाले पति के घर में जहर खा लिया। शुक्रवार सुबह इलाज के दौरान प्रिंशु(24) ने दम तोड़ दिया। शिकायत के आधार पर झूंसी पुलिस ने दारोगा के खिलाफ दहेज एक्ट के तहत केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

मऊ जिले के पिलखी गांव निवासी भरत सिंह गुजरात की एक स्टील फैक्टरी में काम करते हैं। उनकी बड़ी बेटी प्रिंशू भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय में पढ़ती थी। इसी दौरान उसकी दोस्ती फेसबुक के जरिए दारोगा कालका प्रताप सिंह से हुई। कालका प्रताप सिंह के पिता तेज प्रताप सिंह रिटायर्ड दारोगा हैं। वह मूलत: जौनपुर जिले के कठार गरीयांव गांव के रहने वाले हैं। उनका एक मकान प्रयागराज स्थित झूंसी के देवनगर मोहल्ले में है।

प्रिंशु को देखने भोपाल आए थे

प्रिंशु के पिता भरतसिंह ने पुलिस में की गई शिकायत में बताया कि फेसबुक पर दोस्ती होने के बाद कालका प्रतापसिंह दो बार भोपाल भी आया था। दोनों ने एक दूसरे को पसंद कर लिया तो वह अपने चाचा के साथ रिश्ता तय करने 5 जुलाई 2017 को कालका प्रसाद के भाई से मिलने मथुरा गए थे। इसके बाद कालका प्रसाद के भाई भी भोपाल आकर प्रिंशु को देखकर गए थे।

मथुरा में दिए थे 24 लाख 80 हजार

शिकायत के मुताबिक रिश्ता तय करने के लिए भरतसिंह 18 अगस्त 2018 को मथुरा गए और कालका प्रसाद से रिश्ता तय करने के लिए उनके भाई को 24 लाख 80 हजार रुपए नकद दिए। इसके बाद भरतसिंह कालकाप्रसाद के परिवार वालों से मिलने 16 नवंबर 2018 को प्रयागराज गए। वहां तिलक की तारीख 7 मई 2019 और शादी की तारीख 15 मई 2019 तक हुई।