भोपाल। सुकमा में हुए नक्‍सली हमले में मध्‍यप्रदेश के भी दो जवान शहीद हो गए हैं। हमले के बाद मंडला और बालाघाट में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है।

इस हमले में मुरैना जिले के एएसआई रामकृष्‍ण सिंह तोमर और भिंड के आरक्षक जितेंद्र सिंह शहीद हुए हैं। ये सीआरपीएफ की 212 वीं बटालियन के सदस्‍य थे। तोमर तरासम और जितेंद्र सिंह भिंड की चतुर्वेदी कॉलोनी के निवासी थे।

वहीं आईजी इंटेलीजेंस (पीएचक्यू) मकरंद देउस्कर ने छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले के बाद छग से सटे मप्र के मंडला और बालाघाट जिलों में अलर्ट कर दिया है।

उन्होंने अधिकारियों को दोनों जिलों में विशेष सतर्कता बरतने और हर सूचना पर गंभीरता से कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि कुछ दिन पूर्व मंडला जिले में नक्सलियों की उपस्थिति देखी गई थी। नक्सलियों ने एक वन चौकी होलिकादहन की रात जला दिया था।

मप्र सरकार ने इन जवानों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपये की सहायता के साथ मकान और परिवार के एक सदस्‍य को सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने यह जानकारी दी।

सीएम ने कहा

घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। ईश्वर शहीदों की आत्मा को शांति दे और दुख की इस घड़ी में उनके शोक संतप्त परिवारों को संबल दे। भारत मां के वीरों को कोटिश नमन।

-शिवराज सिंह, मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश