भोपाल। विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव के बाद अब उपाध्यक्ष के लिए राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है। बुधवार को उपाध्यक्ष के लिए नामांकन दाखिल होना हैं। स्पीकर चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी उतारे जाने की रणनीति के बाद अब कांग्रेस उपाध्यक्ष पद को अपने पास रखने पर विचार मंथन कर रही है। पार्टी से नाराज चल रहे किसी विधायक को कांग्रेस यह पद दे सकती है।

विधानसभा उपाध्यक्ष के लिए बुधवार को दोपहर 12 बजे तक नामांकन दाखिल किए जा सकते हैं। चुनाव गुरुवार को होगा। सूत्रों के मुताबिक विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव की तरह उपाध्यक्ष पद को लेकर भी सदन में गुरुवार की कार्रवाई हंगामेदार होने के आसार हैं।

स्पीकर चुनाव में भाजपा ने प्रत्याशी उतारकर चुनाव का बहिष्कार कर दिया, जिससे कांग्रेस अब उपाध्यक्ष पद को आसानी से भाजपा को देने के मूड में नहीं है। भाजपा के कुछ नेता उपाध्यक्ष पद अपनी पार्टी के पास लाने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ से आग्रह करने का सुझाव दे रहे हैं तो कुछ इससे असहमत हैं। सूत्र बताते हैं कि इस मामले में भाजपा और कांग्रेस के बीच बातचीत भी चल रही है।

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस में उपाध्यक्ष पद के दावेदारों में प्रमुख नाम हिना कांवरे, दिलीप गुर्जर, राजवर्धन सिंह के नाम शामिल है। हिना कांवरे को कांग्रेस ने हाल ही में राष्ट्रीय प्रवक्ता घोषित किया है, जिससे उन्हें उपाध्यक्ष के पद से नवाजे जाने की उम्मीद कम दिखाई दे रही है। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक राजवर्धन सिंह को उपाध्यक्ष बनाकर उनकी नाराजगी कम की जा सकती है।