भोपाल। भोपाल कलेक्टर की नियुक्ति में देरी पर सियासत गरमाते ही राज्य शासन ने राजधानी की कमान बैतूल कलेक्टर तरुण पिथौड़े को सौंप दी है। बुधवार शाम पिथौड़े का पदस्थापना आदेश जारी हो गया। वहीं पिथौड़े की नई पदस्थापना के बाद बैतूल कलेक्टर का जिम्मा संचालक बजट तेजस्वी एस. नायक को सौंपा है। नायक पिछले कुछ महीनों से मंत्रालय में पदस्थ हैं।

यूपीएससी के टॉपर और 2009 बैच के आईएएस अफसर तरुण पिथौड़े दो जिलों (राजगढ़, सीहोर) के कलेक्टर रह चुके हैं। वर्तमान में वे बैतूल कलेक्टर हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के निशाने पर रहे पिथौड़े मप्र ऊर्जा विकास निगम में भी काम कर चुके हैं। घोटाले के बाद व्यापमं की संरचना को दुरस्त करने की जिम्मेदारी पिथौड़े को ही सौंपी गई थी, उन्हें संचालक बनाया गया था। पिथौड़े लेखक और विचारक हैं। इनकी कई मोटिवेशनल किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं। वे सीहोर कलेक्टर रहते हुए देहदान का संकल्प ले चुके हैं।

शासन ने बुधवार शाम कुछ जिलों में कलेक्टरों की नई पदस्थापना की है। भोपाल कलेक्टर का पद पिछले पांच दिन से खाली था। शासन ने पांच जून को सुदाम पंढरीनाथ खाड़े को भोपाल से हटाकर मंत्रालय में अपर सचिव बनाया था और भोपाल नगर निगम आयुक्त बी. विजय दत्ता को कलेक्टर का प्रभार सौंपा था।

इस अवधि में शासन ने दो दर्जन से ज्यादा आईएएस अफसरों के तबादले किए, लेकिन भोपाल कलेक्टर की पदस्थापना नहीं की गई थी। इसे लेकर एक दिन पहले ही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य सरकार पर निशाना साधा था।

वहीं शासन ने बीएस जामौद को दतिया कलेक्टर बनाया है। जामौद को लोकसभा उपचुनाव के पहले मुंगावली विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची में गड़बड़ी के चलते 20 फरवरी 2018 को अशोकनगर कलेक्टर के पद से हटाया गया था। तब से वे मंत्रालय में कार्य कर रहे हैं।

नाम-- वर्तमान पदस्थापना--नवीन पदस्थापना

अलोक कुमार सिंह -- उप सचिव चिकित्सा शिक्षा -- प्रबंध संचालक मप्र कृषि उद्योग विकास निगम (उद्यानिकी विभाग को सेवाएं सौंपते हुए)

रामप्रताप सिंह जादौन -- कलेक्टर दतिया -- उप सचिव गृह तथा कार्यपालक संचालक आपदा प्रबंध संस्थान (अतिरिक्त प्रभार)

विशेष गढ़पाले -- अवकाश से लौटने पर -- प्रबंध संचालक मप्र मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी

सतेंद्र सिंह -- उप सचिव मप्र शासन -- कलेक्टर सतना