भोपाल। राजधानी सहित प्रदेशभर में 14 फरवरी के बाद मौसम एक बार फिर करवट बदलेगा। इस बार कई क्षेत्रों में ओले और बारिश की भी संभावना है। दरअसल, एक पश्चिमी विक्षोभ बन रहा है, जो 13 फरवरी से एक्टिव हो रहा है। इसका असर 14 फरवरी को मप्र में दिखाई देगा। राजधानी में भी इसके कारण ओले गिरने की संभावना है।

मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला का कहना है कि वर्तमान में एक सिस्टम बना था, लेकिन वह कमजोर पड़ गया। इसके कारण तापमान में मामूली बढ़ोतरी हो रही है। उन्होंने बताया कि बर्फबारी होने के बाद भी अब अधिकतम तापमान में बढ़ोतरी ही होगी।

इसके पीछे कारण यह है कि उत्तरायण होने के बाद सूर्य की किरणें सीधी आने लगी हैं। इस कारण बादल छाने के बाद भी धीरे-धीरे तापमान में मामूली वृद्धि होगी। बता दें कि भोपाल संभाग के जिलों में पिछले 24 घंटों में तापमान में वृद्धि दर्ज की गई है।

शेष संभागों के जिलों कोई विशेष परिवर्तन नहीं हुआ है। चंबल संभाग के जिलों में सामान्य, जबलपुर एवं भोपाल संभागों के जिलों में सामानय से कम तथा शेष संभागों में सामान्य से काफी कम न्यनूतम तापमान रहा ।

प्रदेश का सबसे ठंडा शहर खजुराहो रहा, जहां न्यूनतम तापमान 4 डिग्री से. दर्ज किया गया। 24 घंटे में सागर, उज्जैन, एवं होशंगाबाद के जिलों में शीतलहर चल सकती है।

भोपाल के तापमान में बढ़ोतरी

भोपाल में सोमवार का मौसम सामान्य रहा। दिनभर पर्याप्त धूप रही, जिससे ठंड से राहत मिली। सोमवार को शहर का न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से 3.4 डिग्री कम रहा। न्यूनतम तापमान रविवार के मुकाबले 2.6 डिग्री अधिक रहा। वहीं अधिकतम तापमान में भी 2.9 डिग्री का इजाफा हुआ है। अधिकतम तापमान 26.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से 1.3 डिग्री कम है।

भोपाल में पांच दिन में पारे की चाल

दिन न्यूनतम तापमान अधिकतम तापमान

गुस्र्वार 16.426.4

शुक्रवार 8.623.3

शनिवार 5.820.4

रविवार 6.423.4

सोमवार9.026.6

चार महानगरों में ऐसा रहा तापमान

शहर अधिकतम तापमान न्यूनतम तापमान

भोपाल 26.69.0

इंदौर29.410.4

ग्वालियर 24.05.8

जबलपुर 25.17.4