अंजली राय, भोपाल। राजधानी के सागर पब्लिक स्कूल के छात्र ने ऐसा मॉडल बनाया है, जिसमें लगे सेंसर के बजने से बाढ़ जैसी आपदा से बचा जा सकता है। इस मॉडल को भोपाल जिले में सर्वश्रेष्ठ मॉडल के तौर पर चुना गया। छात्र को बाल वैज्ञानिक की उपाधि दी गई। कक्षा दसवीं के छात्र ने फ्लड अलार्म सिस्टम का मॉडल बनाकर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई है। छात्र द्वारा बाढ़ से बचाने के लिए तैयार किए गए फ्लड अलार्म सिस्टम का इंस्पायर अवार्ड योजना के तहत नेशनल प्रतियोगिता-2017 के लिए चयन किया जा चुका है।

राज्य स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रतियोगता के दौरान सबसे ज्यादा आकर्षण का केंद्र यह मॉडल रहा। राजधानी के गांधी नगर स्थित सागर पब्लिक स्कूल के छात्र शाश्वत साहा द्वारा बनाए गए मॉडल से 50 किमी के दायरे में बाढ़ के हालात बनते ही सेंसर बजने लगेगा। मॉडल में जमीन के निचले हिस्से में एक वाल्ब लगाया गया है, जब यह वाल्ब पानी अधिक होने पर ऊपर उठता है तो इसमें लगा स्विच ऑटोमेटिक ऑन हो जाता है। इसमें लेजर लाइट लगी है, जिसकी किरण कई किमी दूर केन्द्र में स्थित पैनल पर पड़ती है तो वह घूमने लगता है। इसके साथ ही बाढ़ आने की चेतावनी देने के लिए सेंसर भी बजने लगता है। शाश्वत का सपना वैज्ञानिक बनने का है।