भोपाल। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ चार केंद्रीय मंत्री शासन और राजनीति के विभिन्न् आयामों पर शुक्रवार को नईदुनिया-नवदुनिया फोरम में चर्चा करेंगे। होटल कोर्टयार्ड मैरियट में होने वाला यह आयोजन दो सत्रों में होगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कार्यक्रम का उद्धाटन करेंगे। वहीं केंद्रीय सड़क परिवहन और जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी समापन सत्र को संबोधित करेंगे। सभी दिग्गज अलग-अलग विषयों पर अपनी राय रखेंगे। नईदुनिया-नवदुनिया फोरम का आयोजन 'नया आसमान, नई उड़ान' थीम पर हो रहा है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पार्टनर के रूप में न्यूज 18 (मप्र-छग) भी आयोजन में हमारे साथ जुड़ा है।

विकास चुनावी जीत का मंत्र: मिथक या वास्तविकता

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कार्यक्रम में 'विकास चुनावी जीत का मंत्र: मिथक या वास्तविकता' विषय पर अपनी बात रखेंगे। जैसे-जैसे चुनाव करीब आते हैं, राजनीतिक दलों को, खासतौर से सत्ताधारी दल को अपने विकास के दावों पर भरोसा नहीं होता। पहले की तुलना में अब सरकारों पर जनता की अपेक्षाओं का दबाव बढ़ता जा रहा है। फिर भी चुनाव प्रचार में अक्सर राजनीतिक और व्यक्तिगत आरोप-प्रत्यारोप हावी रहने की वजह भी मुख्यमंत्री बताएंगे।

कृषि संकट और समाधान पर प्रकाश डालेंगे राधामोहन सिंह

नईदुनिया-नवदुनिया फोरम में केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह कृषि संकट पर बात करेंगे और इसका समाधान भी बताएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरकार में आने के बाद किसानों की आय दोगुना करने के लिए कई कदम उठाए, लेकिन किसानों की परेशानी दूर नहीं हो रही है। ऐसी स्थिति में 2022 तक किसानों की आमदनी दो गुनी कैसे होगी, इस पर राधामोहन सिंह बात करेंगे।

राजधर्म या धर्म की राजनीति पर बोलेंगे योगी आदित्यनाथ

फोरम के विशेष सत्र को उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संबोधित करेंगे। एक सन्यासी से उप्र के मुख्यमंत्री पद तक का सफर तय करने वाले योगी आदित्यनाथ राजधर्म या धर्म की राजनीति पर अपने विचार साझा करेंगे। वे यह भी बताएंगे कि राजनीति में धर्म को शामिल किया जाना कितना उचित है?

गांव-गरीबों तक आज भी पहुंच सरकार के लिए मुश्किल क्यों

फोरम में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर कार्यक्रम के दूसरे सत्र में 'गांव-गरीबों तक कितना पहुंच पाई सरकार' विषय पर चर्चा करेंगे। ग्रामीण विकास और गरीब कल्याण के एजेंडे पर मोदी सरकार का फोकस रहा है।

प्रधान बताएंगे योजनाओं में क्रियान्वयन की मुश्किलें

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में आने वाली दिक्कतों को साझा करेंगे। वे बताएंगे कि उज्ज्वला योजना का क्रियान्वयन सभी राज्यों की सरकारों के लिए कैसे रोल मॉडल बना। निचले स्तर की सक्रियता और शीर्ष स्तर की निगरानी योजनाओं की सफलता के लिए कितनी जरूरी है, ऐसे कई सवालों के जवाब प्रधान देंगे।

गडकरी बताएंगे, सत्ताधारी दल को क्यों मिलता है दोबारा मौका

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी फोरम के समापन सत्र को संबोधित करेंगे। वे बताएंगे कि पांच साल सरकार चलने के बाद एंटी इनकम्बेंसी कैसे प्रो इनकम्बेंसी में बदल जाती है। सरकार से नाराजगी के बावजूद सरकार की नीयत देखकर जनता सत्तारूढ़ दल को वोट देती है या विकल्पहीनता की वजह से, गडकरी इन सभी सवालों का जवाब भी देंगे।