भोपाल (स्टेट ब्यूरो)। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी चयन को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि वैसे तो यह पार्टी का निजी मामला है, लेकिन गलत बयानबाजी से पार्टी को नुकसान भी हो सकता है। इसलिए भाजपा को प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर कंट्रोल करना चाहिए।

आठवले रविवार को भोपाल में थे। उन्होंने शहर के एक होटल में पत्रकारों से बात करते हुए मप्र की पांच लोकसभा सीटों से प्रत्याशियों की घोषणा की। उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाएं गिनाईं और कहा कि पिछला चुनाव मोदी के नाम से जीते थे। इस बार काम से जीतेंगे।

आठवले ने शहीद आईपीएस हेमंत करकरे को लेकर दिए गए साध्वी के बयान को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि इस बयान की हमने निंदा की थी। वहीं, बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर दिए गए बयान पर आठवले ने मायावती पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि 'खुद को दलित कहना पॉलिटिकल गेन नहीं है।"

मायावती ने कहा था कि मोदी पॉलिटिकल गेन के लिए खुद को ओबीसी बता रहे हैं। आठवले ने कहा कि वे ओबीसी वर्ग से आते हैं, तो बोलने में गलत क्या है। पदोन्न्ति में आरक्षण पर साफ कहा कि इसकी जरूरत है और इस बार केंद्र में सरकार आने पर इसका कानून बनाने पर विचार करेंगे। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग को आरक्षण मिलना चाहिए। मैं तो सवर्णों को आरक्षण देने के पक्ष में हूं। मैंने ही बार-बार यह मांग उठाई थी। तभी 10 फीसदी आरक्षण का फैसला हुआ।

पांच प्रत्याशी उतारे

पार्टी ने मप्र की 29 में से पांच सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा की है। पार्टी ने सीधी से रामकृपाल बसोर, जबलपुर से कुलदीप अहिरवार, मुरैना से पतिराम शाक्य, सतना से रामनिवास सेन और रतलाम से उदय सिंह मचार को प्रत्याशी बनाया है। आठवले ने कहा कि हमारी रजिस्टर्ड पार्टी है। इसलिए कुछ सीटों से प्रत्याशी उतारना जरूरी है। जबकि अन्य सीटों पर हम भाजपा का समर्थन करेंगे।