भोपाल, नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। आगामी 14 जुलाई को उज्जैन से प्रारंभ होने वाली मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा पिछली दोनों यात्राओं से हटकर होगी। यात्रा के शुभारंभ में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की सभा होगी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री महाकाल के दर्शन करने के बाद यात्रा के लिए रवाना होंगे। पार्टी ने इस बार सोशल मीडिया का भरपूर उपयोग करने की रणनीति बनाई है। इसके लिए सोशल मीडिया की टीम भी यात्रा में साथ-साथ चलेगी। वहीं, विकास यात्रा की तरह इसमें भी विरोध न हो, इसके लिए भी पार्टी ने रणनीति बनाई है।

सूत्रों के मुताबिक पिछले दो चुनाव के दौरान हुई यात्रा का फोकस सिर्फ मुख्यमंत्री और राज्य की लोकप्रिय योजनाओं पर केंद्रित था। इस बार फोकस में प्रधानमंत्री, केंद्र सरकार की योजनाएं रहेगा।

यात्रा की पल-पल की जानकारी देने के लिए पार्टी ने सोशल मीडिया का मजबूत नेटवर्क बनाया है। फेसबुक, टि्वटर और व्हाट्सएप ग्रुप में यात्रा से संबंधित हर तरह के कवरेज अपलोड किए जाएंगे। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा कि सोशल मीडिया के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पूरे प्रदेश के सभी मोबाइल यूजर्स तक पहुंचने की रणनीति बनाई है। हमारा प्रयास है यात्रा की जानकारी सभी लोगों तक पहुंचे।

मालवा में ज्यादा समय

जनआशीर्वाद यात्रा सबसे पहले मालवांचल के उन जिलों में जाएगी, जहां पार्टी के लिए ज्यादा चुनौतियां हैं। खासतौर से मंदसौर, रतलाम, आलीराजपुर, झाबुआ जिले में यात्रा को अधिकाधिक स्थानों पर ले जाने का प्रयास किया जा रहा है। इनमें से कुछ जगह किसान आंदोलन हुए थे।