Naidunia
    Saturday, February 24, 2018
    PreviousNext

    अब महंगे प्रोटीन का विकल्प बनेगा सोया चीज स्प्रेड

    Published: Mon, 10 Jul 2017 12:55 PM (IST) | Updated: Mon, 10 Jul 2017 09:24 PM (IST)
    By: Editorial Team
    soya cheese spread bhopal 10 07 2017

    विनायक बड़ोदिया, भोपाल। मंहगे प्रोटीन उत्पादों का विकल्प अब सोया चीज स्प्रेड फूड रिसर्च के रूप में सामने आया है। प्रो-बायोटिक टेक्नोलॉजी की मदद से बने सोया चीज स्प्रेड में दूध, पनीर और दाल से ज्यादा मात्रा में प्रोटीन है। जो बाजार में मिलने वाले प्रोटीन खाद्य पदार्थों की तुलना में 75 फीसदी सस्ता है।

    बाजार में मिलने वाले गाय के दूध से बने 200 ग्राम चीज की कीमत 115 रुपए है, वहीं सोया चीज स्प्रेड की कीमत 40 रुपए होगी। रिसर्च को पेटेंट रिसर्च मुंबई से अप्रूवल मिल चुका है। यहां सेइसे यूएस एजेंसी से पेटेंट कराने के लिए भेजा गया है। यह रिसर्च सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग भोपाल के सीनियर फूड साइंटिस्ट मनोज कुमार त्रिपाठी ने की है। यह बाजार में लगभग एक साल में आ जाएगा।

    प्रोटीन ज्यादा फैट कम

    सोयाबीन में मौजूद मेडिसिन कपाउंड (फाइटोएस्ट्रोजन, आइसोफ्लेवेनाइट केमिकल्स) एंटी कैंसर कपाउंड हैं। जिनकी मौजूदगी के कारण फूड टेक्नोलॉजी में इसे क्रांतिकारी इनोवेशन माना जा रहा है। सोयाबीन में मिलने वाले एमिनो एसिड (टिफ्थोफेन, मेथ्योनीन, लाइसीन, आर्जेनिन) हमारे शरीर के निर्माण में बड़ी भूमिका निभाते हैं।

    साथ ही सोयाबीन में गाय की दूध की तरह लेक्टोज शुगर नहीं होती है। इस कारण सोया चीज पचने में काफी आसान है। सोया चीज की न्यूट्रिशन वैल्यू भी काफी संतुलित है। इसमें 90 प्रतिशत प्रोटीन और 10 प्रतिशत फैट की मात्रा है जो कैंसर और डायबिटीक पेशेंट के लिए काफी फायदेमंद है।

    प्रो-बायोटिक टेक्नॉलोजी

    सोया चीज स्प्रेड बनाने में जिस तकनीकी का उपयोग किया गया है वह प्रो-बायोटेक टेक्नॉलोजी है। इसमें पैराकेसियाई जीवाणु को सोया मिल्क के साथ प्रोसेस किया गया है। फर्मेंटेशन होने बाद इसे कई प्रक्रियाओं से गुजारा गया है।

    तीन साल की मेहनत

    डॉ. मनोज कुमार त्रिपाठी बताते हैं कि मुझे सोया चीज स्प्रेड बनाने में 3 साल का वक्त लगा। शुरुआती दौर में मुझे सफलता नहीं मिली। सफल प्रोसेस न हो पाने के कारण मैंने इसे दूसरी प्रोसेस से भी गुजारा।

    यह होंगे फायदे

    - सोया चीज शरीर के घातक रेडिएशन को कम करेगा। जो अन्य प्रोटीन उत्पाद नहीं कर पाते।

    - शरीर में कॉलेस्ट्राल की मात्रा को नियंत्रित करेगा। जबकि प्रोटीन्स (दूध और पनीर) खाने से फैट बढ़ता है।

    - कम कीमत पर उपलब्ध होगा।

    - मप्र में सोयाबीन बड़ी मात्रा में उगाया जाता है।

    - यह इनोवेशन प्रोटीन की कमी से होने वाली बीमारी (क्वाशिओकर) में भी कारगर होगा।

    - डायबिटिक और कैंसर पेशेंट के लिए यह रामबाण औषधि की तरह काम करेगा।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें